उत्तराखंड के रामनगर इलाके में एक अजीबोगरीब घटना प्रकाश में आई है जहां पर पति के साथ होने के बाद जीजा के पास रहने आई एक युवती को नशे का इंजेक्शन देकर देह व्यापार करने का मामला सामने आया है।

बताया जा रहा है कि पोल खुलने के डर से जीजा ने पहले तो इस युवती की हत्या कर दी और इसकी शिनाख्त न हो सके इसके लिए चेहरे पर तेजाब डालकर सिंचाई विभाग की नहर में फेंक दिया।

इस पूरी घटना का खुलासा रविवार को जिले के एसपी सुनील मेहरा ने किया और हत्याकांड के आरोपी जीजा और साले को गिरफ्तार कर लिया । आखिरकार पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल बिजली के तार के साथ-साथ युवती के कुछ गहने भी बरामद किए हैं।

उत्तराखंड के रामनगर कोतवाली में पुलिस अधीक्षक सुनील मीणा ने बताया कि इलाके का रहने वाला सोनू सिंह पहले से ही देह व्यापार का धंधा करता है। 2005 में सोनू की पहली शादी मीणा के साथ हुई। उसके कुछ समय बाद सोनू सिंह का परिचय बिजनौर की रहने वाली रुखसार से हुई और कुछ ही दिनों के बाद दोनों ने प्रेम विवाह कर लिया।

परंतु 6 महीने बाद रुकसार अपने दोनों बच्चों को लेकर मुरादाबाद चली गई। इसके बाद सोनू सिंह साले की छोटी बहन जन्नत पर डेरा डालना शुरू किया। जन्नत की शादी दिल्ली में हुई थी और वह पति से झगड़ा करके उसके पास रहने के लिए चली आई थी।

इसे भी पढ़ें :

सांप के जहर का इंजेक्शन लगाकर पत्नी को मार डाला

बारात में दूल्हे के मामा ने चलाई गोली,  पड़ोसी का सीना छलनी

9 जून को वह रामनगर आई और सोनू के साथ रहने लगी। इसके बाद सोनू ने उसे नशे का इंजेक्शन देकर देह व्यापार में धकेल दिया। जब जन्नत को होश आया, तो वह अपनी मां से शिकायत करने की बात कही। सोनू ने अब किसी तरह जन्नत को रास्ते से हटाने की साजिश रची।

इसके बाद उसने अपनी पहली पत्नी मीना के भाई के साथ बिजली के तार से गला घोंटकर जन्नत की हत्या कर दी और उसके बाद उसके चेहरे पर तेजाब डाल कर शव को नहर में फेंक दिया