रांची। झारखंड के जमशेदपुर में एक सेक्रेटरी द्वारा अपने मालिक के उपर रेप का आरोप लगाया है। विक्टिम महिला ने यह बातें कोर्ट में कही है। उसने अपने बयान में कहा कि उसके मालिक पर कोल्ड ड्रिंक में नशीली दवा मिलाकर दुष्कर्म किया है। यही नहीं आरोपी बॉस हर हफ्ते उसका यौन शोषण करता था। हर तीन महीने में उसे गर्भपात की दवा देता था।

महिला ने यह भी आरोप लगाया कि उसका बॉस उसे धमकी देता था। वह कहता था कि कोई उसका कुछ बिगाड़ नहीं सकता। बॉस उसे डॉक्टर के पास ले गया था। वहां उसके पति का नाम मुन्नू ठाकुर बताया गया था।

डॉक्टर से बताया था आरोपी का नाम

बाद में जब डॉक्टर ने उससे पूछा कि सच बताओ कि गर्भवती करने वाला कौन है तो उसने संजय ठाकुर का नाम बताया था। उसके बाद डाक्टर ने संजय ठाकुर को बुलाकर कहा कि वह उसके करीबी हैं, इसीलिए बता रहे हें कि जो दवा गर्भपात के लिए दी गई थी, उसका इस बार असर नहीं हुआ है। दवा उसके शरीर में फैल गई है।

कॉन्सेप्ट फोटो
कॉन्सेप्ट फोटो

क्या है पूरा मामला

पीड़िता ने अदालत को बताया कि वह एक सर्विस सेंटर में काम करती थी। अप्रैल के एक रविवार को जब सबकी छुट्टी रहती थी तो उस दिन मालिक ने उसे अपने चैंबर में काम के लिए बुलाया। काम के दौरान ही उसे कोल्ड ड्रिंक दिया, जिसे पीने के बाद वह बेहोश हो गई। होश आने पर उसके कमर के नीचे दर्द था। उस दिन उसे यह पता नहीं चला कि उसके साथ क्या हुआ है। दूसरे दिन उसे बॉस ने अपना लैपटॉप दिखाया, जिसमें उसकी अश्लील वीडियो थी।

वीडियो वायरल करने की दी धमकी

विक्टिम महिला के अनुसार, उसके बाद से बॉस ने उसे यह कहकर ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया कि यह बात उसके घर वालों को पता चलेगी तो वे आत्महत्या कर लेंगे। वह वीडियो और फोटो वायरल कर देता तो कहीं मुंह दिखाने लायक नहीं रहेगी। सुबह उठने पर उसके दरवाजे पर यह तस्वीर चिपकी मिलेगी। यदि ऐसा नहीं चाहती तो जो वह कहे, वह करना होगा।

इसे भी पढ़ें

शादी के 4 महीने बाद मां बनी ‘मैडम, चली गई स्कूल की नौकरी

अबॉर्शन के बाद बॉस ने उसे काम से निकालने दिया गया। उसने अपनी पत्नी से बताया कि वह (पीड़िता) खराब लड़की है। वह गलत काम करती है। इसके बाद वह पुलिस के पास पहुंची और लिखित शिकायत की है। उसके बाद पुलिस ने उसका मेडिकल कराया और कोर्ट में बयान दर्ज कराया है।