एटा (उत्तर प्रदेश)। उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव के पार्थिव शरीर का उनके गृहनगर चांदपुर गांव में बुधवार को अंतिम संस्कार किया गया। बुधवार को उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

उत्तर प्रदेश के मंत्री बृजेश पाठक उन हजारों लोगों में शामिल थे जिन्होंने दरवेश को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर बड़ी संख्या में वकील भी मौजूद थे। इस बीच, दरवेश यादव के परिवार के सदस्यों ने हत्या की सीबीआई जांच की मांग की और आरोप लगाया कि मनीष शर्मा (जिसने दरवेश यादव को गोली मारी थी) ने धन का घपला किया था, जिसके चलते दरवेश की हत्या की गई।

मनीष शर्मा ने दरवेश यादव की हत्या करने के बाद खुद को गोली मार ली थी और उसे गंभीर हालत में गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया।

वकीलों ने दिवंगत बार काउंसिल प्रमुख के परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की है जबकि बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने परिवार के लिए 50 लाख रुपये का मुआवजा मांगा है। दरवेश यादव को रविवार को उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के अध्यक्ष के रूप में चुना गया था और बुधवार को अदालत में अपने सम्मान समारोह में शामिल हुई थीं।

इसे भी पढ़ें

यूपी बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की गोली मारकर हत्या, हमलावर ने भी खुद को मारी गोली

सम्मान समारोह के तुरंत बाद, दरवेश जब एक वकील के चेंबर में बैठी थीं, तभी मनीष शर्मा ने अंदर आकर गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। उसने दरवेश यादव के सिर और सीने में तीन गोलियां दागीं और फिर खुद को भी सिर में गोली मार लिया। घटना के बाद, राज्य सरकार ने सभी अदालतों में सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी है।