इंदौर। पति की कथित दरिंदगी की शिकार 30 साल की महिला को मंगलवार को इंदौर के डाक्टरों ने नया जीवन दिया। यहां एक सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों ने जटिल सर्जरी के जरिये उसके प्राइवेट पार्ट से मोटरसाइकिल के हैंडल की ग्रिप निकाली।

शासकीय महाराजा यशवंतराव हॉस्पिटल की ओर से जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि करीब चार घण्टे चली सर्जरी के दौरान महिला के प्राइवेट पार्ट से प्लास्टिक की ग्रिप निकाली गयी। यह ग्रिप मोटरसाइकिल के हैंडल की है। उन्होंने बताया कि ग्रिप महिला की बच्चेदानी, पेशाब की थैली और छोटी आंत तक पहुंच गयी थी।

ग्रिप के बच्चेदानी में लंबे समय तक फंसे रहने के कारण मरीज के इस अंग में संक्रमण फैल गया था। अगर इस चीज को जल्दी बाहर नहीं निकाला जाता, तो संक्रमण उसके पूरे शरीर में फैल सकता था। इस बीच, चंदन नगर थाना प्रभारी राहुल शर्मा ने मामले की जांच के हवाले से बताया कि महिला के पति प्रकाश भील उर्फ रामा (35) के दूसरी महिला से संबंध थे।

इसे भी पढें

कैब ड्राइवर ने महिला से बोला, गर्मी लग रही है तो मेरी गोद में आकर बैठ जाओ

दूसरी महिला से मेल-जोल पर रोक-टोक रामा को कथित रूप से इतनी नागवार गुजरी कि उसने करीब दो साल पहले अपनी पत्नी को शराब पिलाकर उसे बेसुध कर दिया। फिर उसके प्राइवेट पार्ट में मोटरसाइकिल के हैंडल की ग्रिप डाल दी।

उन्होंने बताया कि शर्म के कारण महिला ने यह घटना किसी को नहीं बतायी। लेकिन जब दर्द हद से बढ़ गया, तो उसने अपने पति के खिलाफ पुलिस थाने में हाल ही में रिपोर्ट दर्ज करायी। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी को पुलिस रविवार रात गिरफ्तार कर चुकी है।