विशाखापट्टणनम में बड़े किडनी रैकेट का पर्दाफाश, ऐसे खेलते थे जिंदगियों से

श्रद्धा अस्पताल के बाहर की तस्वीर  - Sakshi Samachar

विशाखापट्टणम : स्थानीय सागर केंद्र में बड़े किडनी रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। विलंब से मिली जानकारी के अनुसार, शहर के श्रद्धा अस्पताल में किडनी रैकेट का खुलासा हुआ है।

गरीब लोगों को टारगेट कर किडनी का कारोबर चलाया जा रहा था। खासकर ऐसे लोगों की जिंदगियों से खेला गया जिन्हें तत्काल आर्थिक जरूरतें पूरी करने की मजबूरी थी। दलालों के हाथ में धोखा खाये एक व्यक्ति द्वारा शिकायत किये जाने के बाद किडनी रैकेट का खुलासा हुआ है।

पुलिस के अनुसार, हैदराबाद के कूकटपल्ली निवासी पार्थसारथी सेक्युरिटी गार्ड के रूप में काम करताा है। इसी क्रम में बेंगलूरु निवासी एक दलाल मंजुनाथ से उसका परिचय हुआ।

मंजुनाथ ने उसकी वित्तीय हालत के बारे में जानकारी हासिल की। इसी दौरान उसने पार्थसारथी को एक किडनी के बदले में 12 लाख रुपये देने का प्रस्ताव रखा। इतनी भारी रकम एक साथ मिलने की आस से पार्थसारथी ने किडनी देने की बात मान ली।

अजब गजब कैंडिडेट: नेताजी ने चुनाव आयोग से मांगा 75 लाख रु., नहीं तो किडनी बेचने की इजाजत

किडनी देने के बाद मंजुनाथ ने पार्थसारथी को केवल पांच लाख रुपये दिया और चलता बना। पार्थसारथी ने पुलिस थाने में इस घटना की शिकायत दर्ज की। पुलिस ने मामला दर्ज करके मंजुनाथ को गिरफ्तार किया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है़।

इस पूरे मामले में कई और लोगों की संलिप्तता की बात कही जा रही है। इस पूरे रैकेट का पर्दाफाश पुलिस करने ही वाली है। बाकी आरोपियों की धड़पकड़ के लिए पुलिस की कई टीमें छापेमारी कर रही है।

Advertisement
Back to Top