जयपुर : राजस्थान पुलिस ने अलवर में एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म से जुड़े मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि दो लोग अभी भी फरार हैं। पीड़िता द्वारा दर्ज प्राथमिकी के अनुसार पांच आरोपियों ने कथित तौर पर महिला से उसके पति के सामने सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने अपराध का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर अपलोड किया, जो वायरल हो गया।

पुलिस ने इंद्रराज गुर्जर व मुकेश गुर्जर को मंगलवार को गिरफ्ताार किया, जबकि अशोक गुर्जर को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किया। अशोक गुर्जर ने कथित तौर पर वीडियो बनाया था। बाकी के दो आरोपियों-छोटेलाल व हंसराज को पकड़ने में पुलिस जुटी हुई है।

पुलिस सूत्रों ने पुष्टि की है कि मुकेश गुर्जर अपराध का वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर फैलाने के लिए जिम्मेदार है।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) कपिल गर्ग ने मंगलवार को कहा कि पुलिस ने सभी आरोपियों को पकड़ने के लिए 14 टीमें बनाई हैं।

इसे भी पढ़ें :

प्रेम का झांसा देकर युवक ने किया दसवीं छात्रा के साथ दुष्कर्म, हो गई गर्भवती

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का द्वारा राज्य में इस तरह के अपराधों को रोकने में विफल रहने के कारण भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मामले में गहलोत से इस्तीफा मांगने के साथ इसमें एक राजनीतिक मोड़ आ गया।

पीड़ित की प्राथमिकी के अनुसार, उसे व उसके पति को थानागाजी-अलवर बाईपास के पास मोटरसाइकिल से यात्रा करने के दौरान पांच बाइक सवारों ने रोका।

आरोपी इसके बाद दंपति को एक सुनसान जगह पर ले गए, उसके पति की पिटाई की और महिला के साथ दुष्कर्म किया और इस जघन्य कृत्य की फिल्म बनाई। आरोपियों ने दंपति को इस मामले की खबर पुलिस को करने पर भयावह परिणाम की धमकी दी थी।