लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में चलती कार में सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि युवती मलिहाबाद की एक गांव की रहने वाली है और वह बीए थर्ड ईयर की छात्रा है। उसका पिता 2015 में पुलिस विभाग से सिपाही पद से रिटायर हो चुके हैं। पुलिस सूत्रों ने शनिवार को यहां यह जानकारी दी।

मिली जानकारी के मुताबिक, मलिहाबाद की युवती के साथ विभूतिखंड में शहीद पथ पर चलती कार में गैंगरेप हुआ। बेसुध होने पर युवती को चलती कार से तेलीबाग इलाके में फेंककर आरोपी फरार हो गए। युवती ने अपने गांव के कुछ लोगों पर विभूतिखंड पुलिस थाने में मुकदमा लिखाया है।

उन्होंने बताया कि आरोपी चारों युवती की पहचान वाले हैं। युवती का आरोप है नौकरी लगाने के नाम पर उन लोगों ने उससे पैसा लिया था, लेकिन नौकरी नहीं लगी। आरोपियों ने उसे गुरुवार शाम पैसा वापस करने के लिए बुलाया था।

युवती का कहना है कि उन लोगों ने उसे पैसा तो दिया नहीं और जबरन कार में डालकर ले गए। आरोपियों ने उसके साथ बलात्कार किया और बाद में चलती कार से तेलीबाग इलाके में फेंककर फरार हो गए।

इसे भी पढ़ें :

बाप ने बेटी को बनाया हवस का शिकार, लड़की ने की खुदकुशी

उत्तर प्रदेश के संभल में बुजुर्ग महिला सहित तीन की हत्या

उन्होंने बताया कि युवती की तहरीर पर बबलू, कांशी, हरीश और जेपी के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि पीड़िता का मेडिकल करा दिया गया है। पुलिस आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है।

सूत्रों के अनुसार आरोपी और युवती मलिहाबाद क्षेत्र के एक ही गांव के रहने वाले हैं। आरोपी बबलू और पीड़िता के परिवार के बीच काफी समय से रंजिश चल रही है। पुलिस सामूहिक बलात्कार के मामले को संदिग्ध मान रही है। उन्होंने बताया कि युवती की मेडिकल जांच रिपोर्ट आने पर आगे कार्रवाई की जाएगी।