हैदराबाद : एक व्यक्ति द्वारा पत्नी व चार महीने के बेटे को जिन्दा जला दिए जाने के मामला घटकेसर थानांतर्गत सामने आया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक घटकेसर नगरपालिका के अंतर्गत कोंडापुर में दो अज्ञात लोगों को जला दिये जाने के बारे में स्थानीय लोगों से मिली सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू कर गई।

पुलिस ने बताया कि जनगाम जिले के पालकुर्ति निवासी माचेल्ला रमेश और गुडूरु निवासी कंदिगा शुश्रुता ने वर्ष 2015 में प्रेम विवाह किया था और दोनों अलग-अलग समुदाय से जुड़े थे। इन दंपती को चार महीने का बेटा भी था। किसी बात को लेकर पति से झगड़ने के कारण शुश्रुता पिछले कुछ समय से अपने माता-पिता के पास रह रही थी।

इसी क्रम में मामले को सुलझाने के इरादे से रमेश शुश्रृता को उप्पल में ओआरआर के पास आने को कहा, तो शुश्रृता बेटे के साथ वहां पहुंची। इसी दौरान दोनों के बीच फिर से झगड़ा हुआ तो नाराज शुश्रुता ने खुद नींद की गोलियां खाने के साथ उन्हें दूध में मिलाकर बेटे को भी पिला दिया।

इसे भी पढ़ें :

एक छोटी से गलती से चली गई तीन लोगों की जान, ऐसे हुआ हादसा

पत्नी और बेटे के बेहोश हो जाने से रमेश रात्रि करीब 9 बजे दोनों को स्थानीय प्रभाकर एनक्लेव के पास ले गया और वहां पेट्रोल छिड़क कर उन्हें जला दिया। रमेश वहां से सीधे पालकुर्ती पहुंच कर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने बताया की पूछताछ से यह बात सामने आई है कि पारिवारिक कलाह की वजह से यह घटना घटी है। पुलिस मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है।