हैदराबाद : भावी महिला एसआई द्वारा प्रेमी के साथ मिलकर पति की निर्मम हत्या किए जाने का मामला सामना आया है। संदेहास्पद स्थिति में मारे गए रेलकर्मी श्रीनिवास के मामले ने नया मोड़ ले लिया है। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि पत्नी संगीता ने श्रीनिवास की हत्या की थी।

पुलिस के मुताबिक श्रीनिवास की मौत से जुड़े मामले की जांच के दौरान श्रीनिवास के भाई सुरेश ने अपनी भाभी संगीता पर शक व्यक्त किया। पुलिस ने इसी दिशा में जांच को आगे बढ़ाकर क्लूज टीम की मदद से संगीता सहित उसके प्रेमी (रिश्ते में भांजा) विजय को गिरफ्तार किया है। आरोपी संगीता हाल ही में संपन्न एसआई की परीक्षा में क्वालिफाई हुई थी।

आरोपियों को मीडिया के सामने पेश करती हुई पुलिस 
आरोपियों को मीडिया के सामने पेश करती हुई पुलिस 

भांजे विजय से अवैध संबंध रखने वाली संगीता और उसके पति श्रीनिवास के बीच अकसर झगड़ा होता था और श्रीनिवास ने संगीता को भांजे से दूरी बनाए रखने की चेतावनी दी थी। इसके बावजूद संगीता जब अपनी आदतों से बाज नहीं आई, तो हताश श्रीनिवास शराब का आदी बन गया।

इसी क्रम में पिछले दिनों संपन्न एसआई की परीक्षा में योग्यता हासिल कर चुकी संगीता ने भांजे के साथ अवैध संबंध में रोड़ा बन रहे पति श्रीनिवास को किसी तरह रास्ते से हटाने का मन बनाया।

इसे भी पढ़ें :

जयराम हत्या मामला, पुख्ता सबूत नहीं होने पर शिखा चौधरी को नहीं किया मामले में लिप्त

संगीता ने पहले करंट की मदद से पति की हत्या करने का निर्णय लिया था, लेकिन भांजे विजय की सलाह पर उसने अपना प्लान बदल दिया। बाद में उसने पति की गहरी नींद में हत्या करने की योजना बनाई और इसी के तहत शराब की नशे में घर पहुंचे श्रीनिवास की प्रेमी विजय के साथ मिलकर हत्या कर दी।

भांजा विजय पत्थर से श्रीनिवास के सिर पर कूच रहा था, तो पत्नी उसे जोर से पकड़ी हुई थी ताकि वह इधर-उधर न हिल सके। पति की चीख किसी को सनाई न पड़े, इसलिए ठीक घर के पास से ट्रेन गुजरने के दौरान अपने प्लान को अंजाम दिया। बाद में दोनों ने शव को एक चटाई में लपेट कर बोराबंडा में रेलवे पटरी के पास फेंक कर उसे आत्महत्या करार की कोशिश की। आरोपी संगीता बीएड की पढ़ाई पूरी कर चुकी है।