चेन्नई: पुलिस ने सोमवार को तमिलनाडु के तिरुनेलवेली जिले के एक श्मशान में कथित तौर पर आधा जला हुआ शरीर खाने के बाद एक 43 साल के एक व्यक्ति को मेंटल हॉस्पिटल भेजा है। वासुदेवनल्लूर सिटी पुलिस के अनुसार, गांववालों का आरोप है कि एस मुरुगेसन के रूप में पहचाने गए व्यक्ति को एक महिला के शरीर से मांस काटते देखा गया।

पुलिस के मुताबिक गांववालो ने कहा कि शनिवार को टी रामनाथपुरम गांव में एक 70 साल की महिला की मौत हो जाने के बाद, उसके रिश्तेदारों ने रविवार रात एक स्थानीय श्मशान में उसका शव जला दिया। इस बीच, रविवार को दोपहर 1.20 बजे जब कुछ लोग रास्ते में आए, तो उन्होंने एक अज्ञात व्यक्ति को आधे जले हुए शव के पास राख हटाते हुए देखा।

इसे भी पढ़ें मणिपुर में बच्चों का मांस खाने को लेकर असम के 2 लोग गिरफ्तार

उन्होंने यह भी कहा कि आदमी मांस काटने के लिए उसके पास एक दरांती था। वासुदेवनल्लूर पुलिस के एक निरीक्षक एंटनी ने कहा कि शुरू में उन्हें लगा कि वह व्यक्ति श्मशान का परिचारक था। हालांकि, बाद में, लोगों ने दावा किया कि उन्होंने उसे मांस काटते हुए और इसे खाते हुए देखा। जब वे चिल्लाए और उस पर पथराव किया, तो वह नहीं हिला।

पुलिस एक अधिकारी एंटनी ने कहा कि जब हमने स्थानीय लोगों से पूछताछ की, तो उन्होंने कहा कि यह रामनाथपुरम गाँव के एक दिहाड़ी मजदूर मुरुगेसन था। चूंकि वह ड्रग्स का आदी था, इसलिए उसकी पत्नी और बच्चों ने उसे छोड़ दिया था। इसीलिए, मुरुगेसन इधर-उधर घूमने लगा।

रामनाथपुरम के गांव के लोगों ने कहा कि उन्हें अक्सर श्मशान में मानव मांस बिखरा हुआ मिला है और अब संदेह है कि यह मुरुगेसन हो सकता हैं जिसने उन्हें खा लिया। पहले हमने सोचा था कि यह आवारा कुत्तों का कृत्य था। हालांकि, मुरुगेसन की गिरफ्तारी के बाद हम इस निष्कर्ष पर पहुँचे कि उसने मांस खाने का प्रयास किया था। हालांकि, एंटनी ने कहा कि वे अब तक मानव मांस खाने की मुरुगेसन की आदत की पुष्टि नहीं कर पाए हैं।