हैदराबाद : कुशाईगुडा थाना क्षेत्र में गाड़ियों की धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार किये गये आरोपियों को लेकर पुलिस के सामने एक नई चुनौती खड़ी हो गई है। पुलिस को इस मामले को आगे ले जाने का सिर दर्द बन गया है। आखिर पुलिस ने फॉरेंसिक विभाग का दरवाजा खटखटाया है।

बता दें कि पुलिस ने गाड़ियों की धोखाधड़ी मामले में गत 3 जनवरी को पोतुलय्या और सय्यद सिराज हुसैन को गिरफ्तार किया। पुलिस के लिए सिर दर्द तब बना जब एक आरोपी ने अपने आपको नर नहीं बल्कि मादा बताया।

पुलिस ने गिरफ्तार किये गये सिराज को पहले पुरुष मानकर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी। मगर मामले की डायरी दर्ज के समय सिराज ने अपने आपको मर्द नहीं बल्कि औरत होने की बात बताई। यह सुनकर पुलिस के होश ही उड़ गये।

सिराज ने पुलिस को यह भी बताया कि उसने तीन साल पहले मुंबई में लिंग परिवर्तन कराया है। उसका नाम सय्यद सिराज हुसैन नहीं, बल्कि शबाना आजमी है। साथ ही उसने यह भी बताया कि वह करीमनगर जिले के फतेपुर गांव का रहनेवाला/रहनेवाली है।

पुलिस ने गांधी अस्पताल फॉरेंसिक विभाग पत्र लिखकर आग्रह किया गिरफ्तार व्यक्ति आदमी है या औरत बताएं। पुलिस ने मीडिया को बताया कि फॉरेंसिक रिपोर्ट के आधार ही लिंग कॉलम को भरा जाएगा। इसके बाद ही मामले की आगे की कार्रवाई की जाएगी।