हैदराबाद : पुलिस ने हैदराबाद में पिछले महीने चेन स्नैचिंग की घटनाओं को अंजाम देने वाले तीन सदस्यीय एक अंतरराज्यीय गिरोह को गिरफ्तार किया। टास्क फोर्स की पुलिस ने भवानी नगर पुलिस, राचकोंडा और एसओटी की पुलिस के साथ मिलकर तीन शातिर चेन स्नैचर को गिरफ्तार किया। आपको बता दें कि दिसंबर माह में इन चेन स्नैचिंग की घटनाओं से तहलका मचा था।

पुलिन ने गिरोह के पास से एक केटीएम मोटरसाइकिल, एक पल्सर, एक चाकू और सोने के आभूषण बरामद किया है। गिरफ्तार किये गये चेन स्नैचर गौतम बुद्ध नगर नोएडा, उत्तर प्रदेश निवासी मोनू वाल्मीकि उर्फ राहुल और उसके दो साथी बुलंदशहर उत्तर प्रदेश निवासी चोका और कोत्तापेट निवासी, साहेब नगर और वनस्थलीपुरम निवासी चिंतामल्ला प्रणीत चौधरी उर्फ मान्या शामिल है। तीनों को गिरफ्तार गूगल पेकी मदद से की गई है।

यह भी पढ़ें :

पढ़ाई छोड़ मौज-मस्ती के लिये चेन स्नेचर बन गए इंजीनियरिंग के छात्र

चेन स्नैचरों की बाइक बरामद, अब भी दहशत का मौहाल, बिना गहनों के निकल रही हैं औरतें

नगर पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने बताया कि इस गिरोह ने पिछले माह में वनस्थलीपुरम, एलबी नगर थाना क्षेत्र में 11 चेन स्नैचिंग घटनाओं को अंजाम दिया गया था। सीपी ने बताया कि 26 दिसंबर को 6 और 27 दिसंबर को 5 घटनाओं को अंजाम दिया गया था। पुलिस आयुक्त ने यह भी बताया कि इस गिरोह पकड़ने के लिए 120 विशेष दलों का गठन किया गया था।

इन दलों ने सीमावर्ती इलाकों में लगभग 21 हजार वाहनों की जांच पड़ताल की। इसके बाद 1600 को जब्त किया गया। पुलिस ने 11 चेन स्नैचिंग की घटनाओं के संबंध में लगभग 600 सीसीटीवी फुटेज खंगाले हैं। इसके अलावा पुलिस ने बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और एअरपोर्ट पर भी तलाशी अभियान चलाया। इसके बाद लॉज निजी ट्रैवल एजेंसियों की जांच पड़ताल की गई। इस जांच पड़ताल में पुलिस काफी सबूत मिले।

अंजनी कुमार ने बताया कि मोनू वाल्मीकि के खिलाफ नोएडा समेत उत्तर प्रदेश के विभिन्न थानों में चोरी और चेन स्नैचिंग के 40 मामले दर्ज है। उसने चोका के साथ मिलकर हैदराबाद में 40 घटनाओं को अंजाम दिया। प्रणीत चौधरी ने यूके में इंजीनियरिंग डिग्री की पढ़ाई अधूरी छोड़ दी और स्वदेश लौट आया। वह कुछ दिन दिल्ली में भी रहा है।

हैदराबाद आने के बाद सरूरनगर और उप्पल में तीन चेन स्नैचिंग घटनाओं को अंजाम दिया। इन मामलों में वह गिरफ्तार भी हो गया। जेल से लौटने के बाद वह नोएडा चला गया। जहां उसकी मुलाकात सोनू वाल्मीकि और चोका से हुई। इसके बाद तीनों ने गिरोह बना लिया। तीनों हैदराबाद आ गये। प्रणीत हैदराबाद का रहने वाला होने के कारण उसे विभिन्न क्षेत्रों की अच्छी जानकारी है। उसने अपने दोनों साथियों चेन स्नैचिंग की साजिश रची। उसने मलकपेट निवासी सोफिया नामक व्यक्ति के पास से केटीएम मोटरसाइकिल किराए पर ली।

प्रणीत ने मोटरसाइकिल पर दोनों को नगर अनेक क्षेत्रों में घुमाया। प्रणीत के इशारे पर 26 और 27 दिसंबर को सोनू वाल्मीकि और चोका ने 11 की चेन स्नैचिंग की घटनाओं को अंजाम दिया। इसके बाद केटीएम मोटरसाइकिल तालाबकट्टा पर छोड़ दिया। पुलिस को मिली जानकारी के आधार पर प्रणीत को एक लॉज में और मोनू और चोका ईदी बाजार के अनमोल होटल से गिरफ्तार किया। इस संबंध में अधिक जानकारी की प्रतीक्षा है।