विजयवाड़ा : चेन्नई में एक सोने के व्यापारी के घर से पांच करोड़ मूल्य के सोने और चांदी के आभूषण चुराकर फरार हुए दो चोरों को विजयवाड़ा रेलवे सुरक्षा बल ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उनके पास से चोरी की संपत्ति बरामद कर ली है।

रेलवे पुलिस के मुताबिक मंगलवार सुबह करीब 11.30 बजे चेन्नई के ज्वाइंट कमिशनर से रेलवे के सीनियर डीएसपी एसआर गांधी को खबर मिली कि उत्तर प्रदेश के रहने वाले हंसराज सिंह (27) और हरींदर सिंह (26) चेन्नई में चोरी करने के बाद विजयावाड़ा की तरफ फरार हुए हैं।

पुलिस ने चोर के फोन ट्रैक कर संभावना जताई कि चोर चेन्नई से विजयवाड़ा आने वाली तीन ट्रेनों में से किसी से भी विजयवाड़ा पहुंच सकते हैं। बाद में उन्होंने चोरों के संपर्क क्रांति एक्सप्रेस (12651) में सवार होने का पता लगाया।

मैदान में उतरी विजयवाड़ा आरपीएफ पुलिस

संपर्क क्रांति एक्सप्रेस चेन्नई से छूटने के बाद विजयवाड़ा तक नहीं रुकती। विजयवाड़ा में चोरों के फरार होने की आशंका के मद्देनजर इस बाबत रेलवे उच्चाधिकारियों से बात कर ट्रेन को कुछ क्षणों के लिए तेनाली में रुकवा कर उसमें आरपीएफ की स्पेशन टीम के सदस्यों को चढ़ाया गया।

इसे भी पढ़ें :

संक्रांति पर ‘चंद्रन्ना कानुका’ में मिल रहा फफूंदी लगा गुड़ और कीड़ों से भरा आटा

आरपीएफ की टीम ने तीन हिस्सों में बंटकर ट्रेन के हर डिब्बे की जांच की। आखिर में चोरों का पता लगाया और ट्रेन के विजयवाड़ा पहुंचते ही उन्हें पकड़ लिया गया। पुलिस ने उनके पास से पांच करोड़ रुपये मूल्य का 13.5 किलो सोना, 67 किलो चांदी तथा 40 हजार रुपये की नकदी बरामद कर ली। बाद में आरोपियों को चेन्नई पुलिस के हवाले कर दिया गया। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि यह बरामदगी भारतीय रेलवे के इतिहास में सबसे बड़ी बरामदगियों में से एक है।