हैदराबाद : अधिक धन का लालच देकर हजारों की संख्या में लोगों को ठगने वाले क्यू नेट के बदमाशों को साइबराबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बेरोजगारों व मासूम लोगों को ट्रैप करना और बाद में उन्हें चैन सिस्टम के जरिए प्राइज मनी और कमिशन मिलने का लालच देकर ठगने वाले 58 लोगों को पुलिस ने मंगलवार को हिरासत में ले लिया। एक व्यक्ति द्वारा की गई शिकायत के आधार पर साइबराबाद ईओडब्ल्यू (इकानॉमिक ऑफेन्स विंग) के अधिकारियों ने इस मल्टिलेवल मार्केटिंग गैंग का भंडाफोड़ किया है।

साइबराबाद के पुलिस आयुक्त सज्जनार ने बताया कि साइबराबाद की परिधि में क्यू नेट की धोखाधड़ी को लेकर 14 मामले दर्ज हुए थे। देशभर में क्यू नेट के बैंक खाते और गोदाम सीज कर दिए गए हैं और गिरफ्तार किए गए लोगों को रिमांड पर भेजा जा रहा है। आपको बता दें कि क्यू नेट के चेयरमैन माइकिल फेरारी को पहले ही हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

इसे भी पढ़ें :

क्यूनेट घोटाले में पूर्व खिलाडी गिरफ्तार

1000 करोड़ की ठगी

सज्जनार ने बताया कि ये लोग निर्दोष और बेरोजगार युवाओं को निशाना बनाते हुए बिजनेस प्लान होने के नाम पर उन्हें अपनी जाल में फंसाकर करोड़ों रुपये ठगते थे। उन्होंने बताया कि विभिन्न मामलों में कुल 58 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और मामले की प्राथमिक जांच से पता चला है कि क्यू नेट ने मल्टिलेवल मार्केटिंग के नाम पर लोगों से करीब एक हजार करोड़ रुपए तक वसूले हैं। गिरोह में शामिल तीन बैंक कर्मियों को भी हिरासत में लिया गया है। ये सभी वर्ष 2001 में इस धंधे में लिप्त थे। उन्होंने बताया कि इनसभी आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।