प्रयागराज: दुर्गा पूजा पंडाल में मारा गया गैंगस्टर नीरज वाल्मीकि के बारे में अब कई राज निकलकर बाहर आ रहे हैं। उसके अंडरवर्ल्ड माफिया छोटा राजन से भी गहरे ताल्लुकात रहे थे। उसने मुंबई में कई शूटआउट में हिस्सा लिया था।

वाल्मीकि पर आपराधिक मामलों की लंबी फेहरिस्त है। कई थानों में हत्या, लूट, अपहरण, डकैती और रंगदारी के मामले उस पर चल रहे थे। पुलिस की माने तो ऐसा कोई कुकर्म नहीं बचा था जिसके तहत उस पर आरोप नहीं लगे थे। तब नीरज सुर्खियों में आया जब साल 2008 में उसने साथियों के साथ मिलकर इलाहाबाद कचहरी डाकघर में डकैती की थी। इस दौरान उसने गार्ड को गोली मार दी थी।

बता दें बुधवार को इलाहाबाद के एक दुर्गा पंडाल में चार बदमाशों ने गैंगवार में नीरज वाल्मीकि की गोली और बम से हत्या कर दी। पूरी वारदात सीसीटीवी फुटेज में कैद है। वीडियो में आप देख सकते हैं कि किस तरह कातिल सबसे पहले पंडाल में पहुंचकर नीरज से हाथ मिलाते हैं। इसके बाद उस पर गोलियां बरसा दी जाती है। नीरज दब तक संभलता उसे बम से उड़ा दिया जाता है।

कैंट थाना इलाके के राजापुर कॉलोनी पूजा पंडाल में घटी इस वारदात के बाद इलाके में सनसनी है। वीडियो में आप देख सकते हैं हमलावर नीरज से हाथ मिलाता है। कुछ बातें होती है। इसके बाद नीरज के कहने पर हमलावर बैठने के लिए मुड़ता है और फुर्ती से पिस्टल निकालकर फायर कर देता है। इसके बाद भागते हुए नीरज पर दूसरा शख्स फायर कर देता है। इसके बाद तीसरा हमलावर फायर करता है। आखिर में चौथा हमलावर नीरज पर बम फेंक देता है।

यह भी पढ़ें:

पत्रकार जेडे मर्डर केस में छोटा राजन समेत 9 दोषियों को उम्रकैद की सजा

बता दें नीरज वाल्मीकि दो महीने पहले ही जेल से छूटकर आया था। सुनियोजित योजना के तहत गैंगवार में उसकी हत्या कर दी गई। फिलहाल मामले में पुलिस इस बात से संतुष्ट है कि गैंगवार में बड़ा हिस्ट्रीशीटर मारा गया। जबकि हमलावरों को नहीं पकड़ पाना पुलिस के लिए बड़ी नाकामी बताई जाती है।