तिरुमला : तीर्थस्थल तिरुमला एक तरफ श्रद्धालुओं की भीड़ और गोविंदनाम के जाप से गूंज रहा था, तो दूसरी तरफ भक्तों की सुरक्षा के लिए तैनात एक सीआई (सर्कल इंस्पेक्टर) के एक मामले में इंसाफ की गुहार लेकर पहुंची एक महिला को तिरुमला स्थित अपने कमरे में बुलाने का मामला सामने आया है।

पीड़ित महिला मंगलवार को तिरुमला में जारी ब्रह्मोत्सव मद्देनजर स्थापित पुलिस कंट्रोल रूम के पास पहुंची और वहां मौजूद पत्रकारों को आपनी आप बीती सुनाई। महिला ने उसके पति के बीच अनबन और उससे जुड़ा मामला कोर्ट में विचाराधीन होने की जानकारी देते हुए बताया कि तलाक दिए बिना उसके पति ने दूसरी शादी कर ली है। इस संबंध में उसने अपने पति के खिलाफ एक और मामला दर्ज करवाया है।

इसे भी पढ़ें :

रिपोर्ट में खुलासा : महापुष्कर में इस गलती से चली गई 27 श्रद्धालुओं की जान

इस संबंध में महिला ने प्रभारी सीआई से भेंट की और उनसे इंसाफ करने की गुहार लगाई। परंतु सीआई ने उसके साथ अभद्र व्यवहार करते हुए उसका यौन उत्पीड़न करना शुरू किया। एक बार सीआई ने महिला को रायचोटी स्थित गालीवीडु में अपने एक रिश्तेदार के घर ले जाकर वहां उसके साथ जबर्दस्ती करने की कोशिश की, लेकिन महिला के चिल्लाने पर वह पीछे हट गया।

महिला ने सीआई को चेताया कि फिर एक बार ऐसी हरकत करने पर वह डीएसपी और एसपी से उसकी शिकायत कर देगी। लेकिन सीआई ने यह कहकर उसे धमकाया कि डीएसपी और एसपी भी पुलिस ही हैं और वे मुझे कुछ नहीं कर सकते। इसी क्रम में सीआई ने दो दिन पहले महिला को फोन किया और कहा, 'तिरुमला ब्रह्मोत्सव के मद्देनजर मेरी ड्यूटी तिरुमला में है। मैं नंदकम में कमरा लूंगा और तुम तुरंत तिरुमला पहुंच जाना।'

इसे भी पढ़ें :

तेलंगाना : कांग्रेस नेताओं ने राहुल गांधी से चुनावी गठबंधन पर की चर्चा

सीआई की बढ़ती ज्यादतियों से तंग महिला इस बारे में पुलिस अधीक्षक से शिकायत करने तिरुमला पहुंची, लेकिन उनके ब्रह्मोत्सव में व्यस्त होने के कारण उनसे नहीं मिल सकी। महिला ने पत्रकारों को सीआई द्वारा उसे भेजे गए व्हाट्सअप मैसेज दिखाने के साथ वाइस रिकार्डिंग भी सुनाया। उसने बताया कि सीआई सिद्दतेजमूर्ति के खिलाफ उच्चाधिकारियों से शिकायत करेगी और न्याय की गुहार लगाएगी। इस बीच, कर्नूल के डीआईजी सीआई को सस्पेंड कर संबंधित आदेश जारी कर दिया है।