पुणे : महाराष्ट्र के पुणे स्थित एक कान्वेंट स्कूल के प्राचार्य के खिलाफ 14 वर्षीय किशोर को कथित रूप से अश्लील वीडियो दिखाने के लिए मामला दर्ज किया गया है। पुणे पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि एक महिला काउंसलर के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है जिसे घटना के बारे में जानकारी थी लेकिन उसने पीड़ित को चुप रहने के लिए कहा।

वानवाड़ी पुलिस थाने के अधिकारी ने बताया कि दोनों आरोपी फरार हैं और उन्हें पकड़ने के प्रयास जारी हैं। अधिकारी ने कहा, ‘‘घटना इस वर्ष मार्च में हुई। प्राचार्य ने किशोर को कथित रूप से अश्लील वीडियो दिखाकर उसका यौन उत्पीड़न किया।

इसे भी पढ़ें :

रेवाड़ी का रावण गिरफ्तार, टॉपर से गैंगरेप मामले में आरोपी नीशू पकड़ा गया

हैदराबाद छात्रा के ‘यौन उत्पीड़न’ के आरोप में सुपरवाइजर गिरफ्तार

किशोर ने घटना के बारे में स्कूल की महिला काउंसलर से शिकायत की थी।'' अधिकारी ने कहा कि यद्यपि काउंसलर ने छात्र से इस मुद्दे पर चुप रहने के लिए कहा, उसने ऐसा संभवत: इस भय से किया कि यदि उसने प्राचार्य के खिलाफ बोला तो उसकी नौकरी चली जाएगी। अधिकारी ने कहा, ‘‘पीड़ित के परिवार ने भी इस भय से चुप रहने का चयन किया कि उसकी शिक्षा प्रभावित होगी।

पुलिस को घटना के बारे में अपने सूत्रों से जानकारी मिली और उसने स्कूल से सम्पर्क किया।'' उन्होंने बताया कि स्कूल के प्राचार्य और महिला काउंसलर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की प्रासंगिक धाराओं और पोक्सो कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।