चंडीगढ़ : बेटी के दलित युवक से शादी करने से नाराज पिता ने पुत्री की अदालत परिसर में गोली मारकर हत्या करवा दी। यह घटना हरियाणा के रोहतक कोर्ट परिसर की है। इस हमले में युवती की सुरक्षा में तैनात एक पुलिस इंस्पेक्टर की भी जान गई।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक रमेश नामक व्यक्ति अपने साले की बेटी ममता को 2002 में दत्तक पर लिया था। परंतु ममता सोमबीर नामक दलित युवक से प्यार करती थी। पिछले वर्ष अगस्त में ममता ने घर से भाग कर सोमबीर से शादी कर ली। बेटी की इस हरकत से अपमानित रमेश ने यह कहकर सोमबीर को गिरफ्तार करवाया कि आरोपी उसकी नाबालिग बेटी को चिकनी-चुपड़ी बातों में फंसाकर घर से भाग ले गया है। इसके बाद भी ममता घर नहीं लौटी।

इसे भी पढ़ें :

प्रेमी के साथ मिलकर मां ऐसे कर रही थी पिता की हत्या, बच्चों ने देखा तो कर दिया बाथरूम में बंद

सोमबीर के खिलाफ मामले की सुनवाई के तहत बुधवार को अदालत पहुंची ममता से रमेश ने अपने घर चलने के लिए कहा। परंतु ममता ने उसके साथ घर चलने से साफ इनकार कर दिया। ममता की इस हरकत पर रमेश को गुस्सा आया और उसने सरेआम दो घंटे के भीतर उसकी हत्या करने की धमकी दी।

शक्की पति ने पहले काटे पत्नी के पैर, फिर दी जान

मामले की सुनवाई के बाद ममता जब अदालत से बाहर आई तो मोटर साइकिल पर सवार दो बदमाशों ने उसपर फायरिंग कर दी। इस गोलीबारी में ममता के साथ उसकी सुरक्षा में खड़ा इंस्पेक्टर नरेंद्र की भी मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि ममता कुछ ही दिन में बालिग होने वाली थी और इसीलिए रमेश ने उसकी हत्या कर दी होगी।