प्रेमी की आदतों से नाराज थी प्रेमिका, मनाने की जगह लड़के ने कर दी हत्या

हत्या की शिकार अनूषा व पिटाई से घायल आरोपी वेंकटेश  - Sakshi Samachar

हैदराबाद : प्यार से इनकार करने पर नाराज युवक ने युवती की गला काटकर हत्या कर दी। युवक ने मामले को सुलझाने के बहाने उसे बुलाया और ब्लेड से गला काटकर उसकी हत्या कर दी। यह घटना मंगलवार रात की है।

बौद्धनगर संभाग की परिधी स्थित अंबरनगर निवासी व बीएसएनएल कर्मचारी हरिप्रसाद की बेटी अनूषा (16) नगर के नारायणगुड़ा स्थित नारायणा जूनियर कॉलेज में इंटरमीडिएट की पढ़ाई कर रही थी। अंबरनगर में रहने वाले आरेपल्ली रविंदर का बेटा आरेपल्ली वेंकटेश (19) भी हिमायतनगर स्थित न्यू चैतन्या जूनियर कॉलेज में इंटर की पढ़ाई कर रहा था। अगल-बगल की गलियों में रहने वाले वेंकटेश और अनूषा गत दो वर्षों से एक-दूसरे से प्यार करते थे।

परंतु पिछले कुछ समय से वेंकटेश के रवैये से तंग आकर अनूषा पिछले 6 महीने से वेंकटेश से दूरी बरत रही थी। बुलाने पर नहीं आने और अपने प्यार को ठुकराने से वेंकटेश को गुस्सा आया और उसने किसी तरह अनूषा को खत्म करने का फैसला किया।

इसे भी पढ़ें :

शक्की पति ने पहले काटे पत्नी के पैर, फिर दी जान

लड़कियों को बंधक बनाकर जिस्मफरोशी का धंधा चला रहे गिरोह का भंडाफोड़, 7 गिरफ्तार

इसी के तहत मंगलवार की रात उसने कुछ जरूरी बात करने के बहाने अनूषा को उस्मानियाविश्वविद्यालय स्थित डिस्टेन्स एजुकेशन सेंटर के पास स्थित क्वार्ट्स के पास बुलाया। उसकी बातों पर भरोसा कर अनूषा वहां पहुंची। किसी बात को लेकर दोनों के बीच बहस बढ़ गई, तो वेंकटेश ब्लेड से अनूषा का गला काट दिया, जिससे अनूषा चीखते हुए वहीं ढेर हो गई।

अनूषा की चीख सुनकर पास में मौजूद इमरान और ऐजाज वहां पहुंचे, तो वहां खून से लथपथ अनूष तड़प रही थी। मौके पर मौजूद वेंकटेश ने उन्हें देख वहां से भागने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने उसे पकड़ लिया। इस बीच, मौके पर पहुंचे स्थानीय लोगों ने पहले वेंकटेश की पिटाई कर दी और बाद में पुलिस को सूचना दी। वेंकटेश को हिरासत में लेने के बाद पुलिस अनूषा को अस्पताल भेजने की तैयारी कर रही थी कि उसकी मौत हो गई।

बताया जाता है कि अनूषा और वेंकटेश जब दसवीं में थे, तभी दोनों एक ही जगह पर ट्यूशन जाते थे और उसी दौरान उनके बीच हुआ परिचय प्यार में बदल गया। करीब दो साल तक चले इस प्यार में मतभेद आने से अनूषा वेंकटेश से दूर रही थी।

Advertisement
Back to Top