रियोडीजनीरो : अकसर जेलों में हिंसक घटनाओं के कारण खूनखराबा होने वाले ब्राजील में एक और हिंसक घटना घटी। ब्राजील के ऐमजॉनिया की राजधानी मानौस की एक जेल में दो गुटों के बीच भड़की हिंसा में 60 कैदियों की मौत हो गयी।

कुछ को गोली मार दी गयी जबकि कुछ की गला काटकर और शरीर के टुकड़े कर हत्या की गयी। ब्राजील के जन सुरक्षा सचिव सेर्गो फांटस ने बताया कि रविवार दोपहर शुरू हुई हिंसा सोमवार सुबह तक चलती रही।

जेल से कुछ कैदी फरार हो गये और कैदियों ने कुछ जेलकर्मियों को बंधक बना लिया। हमलों से बचाने की मांग करने वाले कैदियों के एक न्यायाधीश के हस्तक्षेप के बाद 12 जेल कर्मचारियों को रिहा करने के बाद ही हिंसा थम गयी। जेलों में अपने वर्चस्व के लिये पिछले वर्ष दो आपराधिक गुटों के बीच हुई लड़ाई ही ताजा हिंसा का कारण बतायी जा रही है। दूसरी तरफ, ऐमजानिया की एक और जेल से सोमवार के तड़के 87 कैदी फरार हो गये।

ब्राजील की जेलों में क्षमता से अधिक कैदी बंद हैं और यहां अक्सर हिंसक वारदातें होती रहती हैं। न्याय मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2014 के अंत तक ब्राजील की जेलों में 6,22,000 कैदी बंद थे। इनमें से अधिकांश अश्वेत पुरुष थे।

दियों की संख्या अमेरिका, चीन और रूस के बाद ब्राजील में सबसे अधिक है। मानवाधिकार संगठन अक्सर ब्राजीली जेलों में कैदियों के हालात का मुद्दा उठाते रहे हैं।