वसीम जाफर ने कहा क्रिकेट को अलविदा, दूसरे ही फर्स्ट क्लास मैच में लगाई थी ट्रिपल सेंचुरी

वसीम जाफर ( फोटो : सौ, सोशल मीडिया)  - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज और विदर्भ को दो बार रणजी ट्रॉफी विजेता बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले वसीम जाफर ने शनिवार को खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा कर दी।

घरेलू क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी माने जाने वाले जाफर ने 260 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। वहीं भारत के लिए उन्होंने 31 टेस्ट मैच और दो वनडे मैच खेले हैं। घरेलू क्रिकेट में अपने करियर की शुरुआत मुंबई से करने वाले जाफर ने 2015-16 से विदर्भ के लिए क्रिकेट खेली।

वसीम जाफर ( फोटो : सौ, सोशल मीडिया) 

जाफर ने आईएएनएस से संन्यास की पुष्टि करते हुए कहा, "हां, मैंने संन्यास से लिया है।" जाफर ने एक बयान में भगवान, अपने परिवार, प्रशिक्षकों और अपने साथी क्रिकेटरों का शुक्रिया अदा किया है।

जाफर ने कहा, "सबसे पहले, मैं अल्लाह का शुक्रिया कहना चाहता हूं जिन्होंने मुझे यह शानदार खेल खेलने की प्रतिभा दी है। मैं अपने परिवार का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। मेरे पिता, भाइयों, जिन्होंने मुझे एक पेशेवर खिलाड़ी के तौर पर खेलने को प्रेरित किया, मेरी पत्नी, जिन्होंने इंग्लैंड की अपनी जिंदगी छोड़ मेरे परिवार और मेरे बच्चों के लिए एक बेहतरीन घर बनाया।"

वसीम जाफर ( फोटो : सौ, सोशल मीडिया) 

उन्होंने लिखा, "मैं अपने स्कूल के दिनों से लेकर पेशेवर जिंदगी तक केसभी प्रशिक्षकों को शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मेरे खेल को सुधार करने में मदद की। सभी चयनकर्ताओं को मेरा शुक्रिया जिन्होंने मुझ पर भरोसा जताया। मैं अपने सभी कप्तानों को धन्यवाद देता हूं। साथ ही अपने साथियों का भी जिनके साथ मैंने काफी कुछ सीखा और जीवनभर याद रखने वाली यादें बनाईं। मैं सपोर्ट स्टाफ का भी शुक्रिया अदा करता हूं जो मेरे इस लंबे सफर में मेरे साथ खड़े रहे।"

इसे भी पढ़ें :

रणजी ट्रॉफी में वसीम जाफर ने बनाया एक नया कीर्तिमान, अब तक कोई नहीं कर पाया यह कारनामा

दिल्ली को हराकर विदर्भ ने पहली बार किया रणजी ट्रॉफी पर कब्जा

वसीम जाफर ( फोटो : सौ, सोशल मीडिया) 

उन्होंने आगे लिखा, "बीसीसीआई, मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) और विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) का शुक्रिया। मेरे कॉरपोरेट टीम इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन का शुक्रिया।"

Advertisement
Back to Top