BCCI की बैठक में होगी कई अहम मुद्दों पर चर्चा, यह है बैठक का एजेंडा 

बीसीसीआई ( फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

नयी दिल्ली : बीसीसीआई की रविवार को यहां होने वाली शीर्ष परिषद की बैठक में 2020-21 घरेलू सत्र के लिये कैलेंडर पर फैसला करना, आचरण अधिकारी की नियुक्ति और भारतीय क्रिकेटरों के संघ (आईसीए) के लिये फंड जारी करने सहित कई एजेंडे शामिल होंगे।

न्यायमूर्ति डीके जैन को पिछले साल फरवरी में बीसीसीआई का पहला लोकपाल नियुक्त किया गया था और इसके बाद वह इसके आचरण अधिकारी के रूप में दोहरी भूमिका निभाने लगे और उन्होंने सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और कपिल देव के खिलाफ हितों के टकराव संबंधित आरोपों का निपटारा किया।

यह देखना होगा कि जैन को इसी जिम्मेदारी के लिये बरकरार रखा जायेगा या फिर सौरव गांगुली की अगुआई वाला बोर्ड नयी नियुक्ति करेगा। नौ सदस्यीय परिषद के लिये एक और मुद्दा एजेंडे में शामिल होगा और वो आईसीए को फंड जारी करना है जो उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुकत लोढा पैनल की सिफारिशों के मुताबिक बना भारत का पहली खिलाड़ी संघ है।

इसे भी पढ़ें :

अंडर-19 टीम पर भड़के कपिल और अजहर, BCCI से की कार्रवाई की मांग

इंग्लैंड दौरे पर गए सौरव गांगुली, 4 देशों की ‘सुपर सीरीज’ पर होगी बात !

अक्टूबर में बने आईसीए को बीसीसीआई से कोष की काफी जरूरत है। अभी तक खिलाड़ियों के संघ को कोई फंड नहीं दिया गया है जिससे इसका कोई कार्यालय नहीं है और यह नियमित अंतराल पर बैठक भी नहीं कर पा रहा। अक्टूबर में हुई पहली बैठक में आईसीए ने 15 से 20 करोड़ रूपये का अस्थायी बजट तैयार किया था। उसे बीसीसीआई से अभी शुरूआती अनुदान भी नहीं मिला है लेकिन उसे आगे खुद ही राशि जुटानी होगी।

शीर्ष परिषद ने अभी तक अपनी पहली बैठक 30 नवंबर को की थी और उसे कम से कम तीन महीने में एक बार बैठक करनी होती है। बैठक में 2020-21 घरेलू सत्र के कार्यकम का भी फैसला करना है। पिछले साल नवंबर में इस्तीफा देने वाले पूर्व मुख्य वित्तीय अधिकारी संतोश रंगनेकर के पद पर नियुक्ति पर भी फैसला होने की संभावना है। साथ ही कैग द्वारा नामांकित की गयी अलका रेहानी भारद्वाज भी पहली बार शीर्ष परिषद बैठक में शिरकत करेंगी जिन्हें दिसंबर में नियुक्त किया गया था। उन्होंने संवैधानिक उल्लघंनों की शिकायतों पर चर्चा के लिये जल्दी बैठक बुलाने की अपील की थी।

Advertisement
Back to Top