राजकोट : बल्लेबाजों के बाद गेंदबाजों के सामूहिक प्रदर्शन के दम पर भारत ने शुक्रवार को यहां सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए दूसरे वनडे मैच में आस्ट्रेलिया को 36 रनों से हरा दिया।

भारत को पहले वनडे में आस्ट्रेलिया के हाथों 10 विकेटों के करारी हार का सामना करना पड़ा था और अब उसने दूसरा वनडे जीतकर तीन मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली है। दोनों टीमों के बीच तीसरा और निर्णायक वनडे रविवार को बेंगलुरू में खेला जाएगा। लोकेश राहुल को उनकी शानदारी पारी के लिए मैन आफ द मैच का पुरस्कार मिला।

भारत ने अपने तीन बल्लेबाजों के अर्धशतकों की मदद से 50 ओवरों में छह विकेट पर 340 रनों का विशाल स्कोर बनाया और फिर आस्ट्रेलिया को 49.1 ओवरों में 304 रनों पर आलआउट कर 36 रनों से मैच जीत लिया।

भारत के तीन बल्लेबाजों शिखर धवन (96), लोकेश राहुल (80) और विराट कोहली (78) ने अर्धशतक जमाए। इन्हीं के दम पर भारत 50 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 340 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। भारतीय बल्लेबाजों को हालांकि इस बीच विकेटों पर दौड़ने के कारण पांच रन पेनाल्टी दी गई है और इसी कारण आस्ट्रेलिया अपनी लक्ष्य का पीछा करने पांच रन लेकर उतरेगी।

आस्ट्रेलिया ने एक बार फिर टॉस जीता और फिर भारत को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। इस बार हालांकि मुंबई की कहानी नहीं दोहराई गई और भारतीय बल्लेबाजों ने आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों पर जमकर रन बनाए। भारत का शीर्ष क्रम फिर मजबूती से रन करने में सफल रहा।

धवन और रोहित शर्मा ने पहले विकेट के लिए 81 रन जोड़े। दोनों खिलाड़ी आराम से बल्लेबाजी कर रहे थे और जोखिम नहीं ले रहे थे। लेग स्पिनर एडम जाम्पा की गेंद 14वें ओवर में रोहित केपैड पर पड़ी और अंपायर ने उंगली उठा दी। रोहित ने 44 गेंदों पर 42 रन बनाए। रोहित आउट होने से पहले एक रिकार्ड अपने नाम करने में सफल रहे। वह सबसे तेजी से 7000 रन बनाने वाले सलामी बल्लेबाज बन गए हैं।

इन्हीं जाम्पा ने एक बार फिर कोहली को अपना शिकार बनाया और शतक पूरा नहीं करने दिया। कोहली ने जाम्पा पर कुछ अच्छे शॉट्स लगाए। वह इसी तरह की एक और कोशिश में सीमा रेखा के पास मिशेल स्टार्क और एश्टन अगर की जुगलबंदी के चलते जाम्पा को अपना विकेट दे बैठे। कोहली ने शानदार शॉट खेला जिसे एश्टन ने पकड़ लिया, लेकिन वे बाउंड्री से टकराने वाले थे तभी उन्होंने गेंद पास में ही खड़े स्टार्क को दे दी और स्टार्क ने कैच लपकने में कोई गलती नहीं की।

इसे भी पढ़ें :

टीम इंडिया ने जीती साल की पहली टी-20 सीरीज, श्रीलंका को 78 रन से रौंदा

रोहित को साल का सबसे बड़ा अवॉर्ड, बने वनडे क्रिकेटर ऑफ द ईयर, जानिए कोहली को क्या मिला....

कोहली ने 76 गेंदों पर छह चौकों की मदद से शानदार पारी खेली। कोहली के जाने से पहले धवन भी पवेलियन लौट चुके थे। धवन को केन रिचर्डसन ने शतक पूरा नहीं करने दिया। धवन का कैच भी स्टार्क ने लपका। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज का विकेट 184 के कुल स्कोर पर गिरा। उन्होंने 90 गेंदों की पारी में 13 चौके और एक छक्का लगाया। श्रेयस अय्यर एक बार फिर विफल रहे। उन्हें सात रनों के निजी स्कोर पर जाम्पा ने बोल्ड किया।