मेलबर्न : ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने कहा है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) का 2020-21 में भारत के खिलाफ दिन-रात प्रारूप के दो टेस्ट मैच खेलने का विचार उसके लिए महंगा साबित हो सकता है। चैपल को लगता है कि भारत का गेंदबाजी आक्रमण बेहतर है, जो ऑस्ट्रेलिया के लिए खतरनाक हो सकता है।

चैपल ने एक स्पोर्ट्स वेबसाइट में अपने कॉलम में लिखा है, "क्रिकेट आस्ट्रेलिया 2020-21 में भारतीय टीम के दौरे पर दो दिन-रात प्रारूप के टेस्ट मैच खेलने पर विचार कर रही है।"

उन्होंने कहा, "इस कदम का मकसद ऑस्ट्रेलिया को फायदा पहुंचाना है, लेकिन यह कदम उलटा साबित हो सकता है, क्योंकि भारत के पास मजबूत आक्रमण है। साथ ही विराट कोहली ने पहले ही बता दिया है कि वह विश्व के इस हिस्से में कप्तानी में उस्ताद हैं।"

रिपोर्ट के मुताबिक, जब अगले साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया भारत का दौर करेगी तब सीए का प्रतिनिधिमंडल बीसीसीआई के नए अधिकारियों से मिलेंगे। ऑस्ट्रेलिया के इस मंडल का नेतृत्व उसके चेयरमैन अर्ल एडिंग्स करेंगे।

एडिंग्स ने कहा, "उन्होंने अपना पहला दिन-रात का टेस्ट मैच खेला और आसानी से जीत गए, यह अच्छी बात है। अब चूंकि वह इसमें आ गए हैं तो हो सकता है कि यहां से वो आगे बढ़ना शुरू करें। मुझे इस बात में कोई शक नहीं है कि वह एक या उससे ज्यादा दिन-रात प्रारूप का टेस्ट मैच खेलने के बारे में विचार करेंगे। लेकिन यह हमारी जनवरी में होने वाली मुलाकात पर निर्भर है।"

यह भी पढ़ें :

किंग कोहली ने टी-20 में ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा को पीछे छोड़ा

दूसरे टी-20 में वेस्टइंडीज की शानदार जीत, भारत को हराकर की सीरीज में 1-1 से बराबरी

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली हालांकि इसके ज्यादा पक्ष में नहीं लग रहे हैं। गांगुली ने कहा, "मैंने सीए से अभी तक कुछ भी आधिकारिक तौर पर नहीं सुना है। चार में से दो ज्यादा होंगे.. यह पारंपरिक टेस्ट मैच का स्थान नहीं ले सकता.. लेकिन हम हर सीरीज में एक मैच गुलाबी गेंद से खेल सकते हैं।"

-आईएएनएस