विराट कोहली दादा गांगुली के साथ लाना चाहते हैं भारतीय क्रिकेट में यह बड़ा बदलाव..!

डिजाइन फोटो  - Sakshi Samachar

कोलकाता : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने रविवार को कहा कि टेस्ट क्रिकेट का अच्छे से मार्केटिंग करने और इस प्रारूप के अच्छे खिलाड़ियों को सेंट्रल अनुबंध में शामिल करने की जरूरत है।

कोहली ने साथ ही बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली की भी तारीफ करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट में बहुत सारे सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे।

कोहली ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, "वनडे और टी-20 की तरह ही टेस्ट क्रिकेट का मार्केट भी अहम है। यह केवल खिलाड़ियों का काम नहीं है। लेकिन इसे क्रिकेट बोर्ड और घरेलू प्रसारणकर्ता से भी दूर ले जाने की जरूरत है।"

उन्होंने कहा, "अगर आप केवल टी-20 क्रिकेट में ही रोमांच लाते हैं और टेस्ट क्रिकेट में ज्यादा नहीं लाते हैं तो फिर फैन्स के बीच यह एक अलग तरह की धारणा बना लेती है।"

कोहली ने टेस्ट स्पेशलिस्ट के वित्तीय सुरक्षा पर कहा, "अगर आप टेस्ट क्रिकेट को अच्छी वित्तीय स्थिति में नहीं रखते हैं तो इससे प्रेरणा कम हो जाएगी। अगर एक खिलाड़ी 20 ओवर खेलता है और गेंदबाज केवल चार ओवर डालता है तो फिर आप केवल टी-20 खेलना पसंद करेंगे। इसे केवल सेंट्रल अनुबंध के जरिए ही हल किया जा सकता है।"

कोहली ने गांगुली की तारीफ करते हुए कहा कि देश में खेल की बेहतरी के लिए बीसीसीआई प्रमुख अच्छा काम कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें :

टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 5000 रन बनाने वाले पहले कप्तान बने विराट, पोंटिंग को छोड़ा पीछे

पिंक बॉल टेस्ट में टीम इंडिया की ‘विराट’ जीत, बांग्लादेश का किया क्लीन स्वीप

कप्तान ने कहा, "दादा (गांगुली) के साथ साथ सभी मामलों पर विचार करने के लिए दरवाजे खुले हैं। वह एक टीम के रूप में हमारे विचारों को समझने के लिए उपलब्ध हैं। वह टेस्ट क्रिकेट की बेहतरी के लिए काम कर रहे हैं और और इससे भारतीय क्रिकेट मजबूत होगा।"

उन्होंने कहा, "हम सही दिशा में आगे बढ़ हैं। उनके नेतृत्व में हमें अधिक सकारात्मक बदलाव देखने को मिलेंगे जोकि क्रिकेट के लिए खास होगा। साथ ही टेस्ट क्रिकेट को प्राथमिकता दी जाएगी।"

Advertisement
Back to Top