हैदराबाद : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली के डे नाइट टेस्ट के भारत में कराने के फैसले ने नया इतिहास रचा है। इस फैसले के बाद अब भारत भी उन टीमों कि लिस्ट में शुमार हो जाएगा जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट के इस नए रोमांच में शिरकत की है। आपको बता दें कि भारत और बांग्लादेश के बीच 22 से 26 नवंबर के बीच कोलकाता के इडेन गार्डन्स मैदान पर डे नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा।

डे-नाइट टेस्ट का इतिहास यूं तो बहुत पुराना नहीं है, लेकिन ऐसे कई क्रिकेट फैंस हैं जिन्हें इसके बारे में पर्याप्त जानकारी नहीं है। यदि आप भी डे-नाइट टेस्ट के इतिहास के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते हैं तो आपको परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। आज हम आपको यहां डे-नाइट टेस्ट से जुड़ी कई अहम बातें बताने जा रहे हैं।

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड ने किया था आगाज

अंतरराष्ट्रीय डे-नाइट टेस्ट की शुरुआत साल 2015 में हुई थी। क्रिकेट इतिहास में पहला डे-नाइट (पिंक बॉल क्रिकेट) मैच ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड के बीच एडिलेड के ओवल मैदान पर खेला था। इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 3 विकेट से हरा दिया था। डे-नाइट टेस्ट के अब तक 11 मुकाबले खेले जा चुके हैं। भारत और बांग्लादेश के बीच खेला जाने वाला यह मुकाबला 12वां डे नाइट टेस्ट होगा।

-दूसरा अंतरराष्ट्रीय डे-नाइट टेस्ट मैच पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच साल 2016 में 13-17 अक्टूबर तक दुबई में खेला गया था, जहां पाकिस्तान ने 56 रनों से मैच जीता था।

- तीसरा मैच ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच साल 2016 में 24 से 28 नवंबर के बीच खेला गया था, इसमें ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट से जीत हासिल की थी।

- चौथा मैच साल 2016 में 15 से 19 दिसंबर तक ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच ब्रिस्बेन में खेला गया था, इसमें भी ऑस्ट्रेलिया को जीत मिली थी।

- 5वां मैच साल 2017 में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच बर्मिंघम में खेला गया था, यहां इंग्लैंड ने पारी और 209 रनों से जीत हासिल की थी।

- 6ठा मैच अक्टूबर 2017 में पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच दुबई में खेला गया था, यहां श्रीलंका ने पाकिस्तान को 68 रनों से हरा दिया था।

- 7वां मैच दिसंबर 2017 में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एडिलेड में खेला गया और यहां भी ऑस्ट्रेलिया ने ही बाजी मारी।

- डे-नाइट इतिहास का 8वां मैच दिसंबर 2017 में ही दक्षिण अफ्रीका और जिम्बाब्वे के बीच पोर्ट एलिजाबेथ में खेला गया था। इस मैच में दक्षिण अफ्रीका ने पारी और 120 रनों से जीत प्राप्त की थी।

- 9वां मैच मार्च 2018 में न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच ऑकलैंड में खेला गया था। यह मैच न्यूजीलैंड ने पारी और 49 रनों से जीत दर्ज की थी।

- 10वां मैच जून 2018 में खेला गया था, जिसमें श्रीलंका ने वेस्टइंडीज को 4 विकेट से हरा दिया था।

- जनवरी 2019 में खेले गए 11वें मैच में ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को पारी और 40 रनों से हराया था।

- साल 2015 से लेकर अब तक कुल 11 डे-नाइट टेस्ट खेले जा चुके हैं। जिनमें ऑस्ट्रेलिया ने सबसे ज्यादा 5 मैच खेले हैं और सभी में जीत हासिल की है। गुलाबी गेंद से खेले गए मैच में सबसे बड़ी जीत इंग्लैंड को हासिल हुई है।

अब बारी भारत की है जो कि टेस्ट की नंबर-1 टीम है और इस लिहाज से कोहली एंड कंपनी के सामने ये दबाव जरूर होगा कि वो डे-नाइट टेस्ट में कैसा प्रदर्शन करते है। भारत के सामने डे-नाइट टेस्ट मैच को सबसे बड़ी चुनौती है पिंक बॉल। जिससे भारतीय खिलाड़ियों के पास ज़्यादा अनुभव नही हैं।

इसे भी पढ़ें :

जानिए किस ग्राउंड पर पहला डे-नाइट टेस्ट मैच कराना चाहती है बीसीसीआई

अब नए अंदाज में नजर आएंगे धोनी, पहले डे-नाइट टेस्ट मैच में करेंगे कमेंट्री

भारत डे नाइट टेस्ट की मेजबानी करने वाली 7वीं टीम

अब तक ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका, न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज डे नाइट टेस्ट की मेजबानी कर चुकी है। कोलाकाता टेस्ट मैच के बाद भारत ऐसा करने वाला सातवां देश बन जाएगा। अब तक सबसे ज्यादा ऑस्ट्रेलिया ने डे नाइट टेस्ट मैच का मेजबानी की है। वहीं पाकिस्तान इस लिस्ट में दूसरे स्थान पर है।

मेजबानी में ऑस्ट्रेलिया नंबर वन

ऑस्ट्रेलिया ने सबसे ज्यादा डे नाइट टेस्ट की मेजबनी की है। ऑस्ट्रेलिया अब तक 5 बार डे नाइट टेस्ट मैचों की मेजबानी कर चुका है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड, साउथ अफ्रीका, पाकिस्तान, इंग्लैंड और श्रीलंका की टीम की डे नाइट टेस्ट में मेजबानी की है। पाकिस्तान ने यूएई में वेस्टइंडीज और श्रीलंका की टीम डे नाइट टेस्ट में मेजबानी की है।