विशाखापट्टनम : टीम इंडिया के स्टार ऑफ स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के आखिरी दिन एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम किया है।

रविचंद्रन अश्विन ने दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में थ्यूनिस डी ब्रुइन को आउट कर सबसे तेज 350 टेस्ट विकेट लेने के मामले में पूर्व श्रीलंकाई स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। अश्विन ने अपने टेस्ट करियर के 66वें मुकाबले में 350 विकेट लेने का कारनामा किया है।

अश्विन मुरलीधरन के साथ संयुक्त रूप से सबसे तेज 350 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। मुरलीधरन ने भी अपने 66वें टेस्ट में बांग्लादेश के खिलाफ 2001 में 350 टेस्ट विकेट पूरे किए थे। मुरलीधरन टेस्ट में 800 विकेट का आंकड़ा छूने वाले दुनिया के इकलौते गेंदबाज हैं। भारत के पूर्व लेग स्पिनर अनिल कुंबले ने 77 टेस्ट मैचों में 350 विकेट का आंकड़ा छुआ था।

इसे भी पढ़ें :

एक और शतक के साथ रोहित शर्मा ने तोड़े तीन कीर्तिमान, संगकारा और सचिन को छोड़ा पीछे

रोहित शर्मा बने टेस्ट मैच के सिक्सर किंग, बनाया नया विश्व कीर्तिमान

अश्विन ने यहां एसीए-वीसीए स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के साथ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में सात विकेट अपने नाम किए। यह कुल 27वीं बार था जब अश्विन ने टेस्ट मैच की एक पारी में 5 या उससे अधिक विकेट चटकाए हैं।

वहीं, अगस्त 2017 के बाद पहली बार अश्विन ने टेस्ट मैच की एक पारी में 5 विकेट लेने का कारनामा किया। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह कुल पांचवां मौका था जब अश्विन ने टेस्ट मैच की एक पारी में 5 विकेट लिए थे। इसके साथ ही आर अश्विन ने भारतीय गेंदबाज हरभजन सिंह और श्रीनाथ को पीछे छोड़ दिया।