विशाखापट्टनम : भारतीय टीम ने विशाखापट्टनम के एसीए-वीसीए स्टेडियम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन शनिवार को अपनी दूसरी पारी चार विकेट के नुकसान पर 323 रनों पर घोषित कर दक्षिण अफ्रीका को 395 रनों का लक्ष्य दिया।

भारत ने अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 502 रनों पर घोषित कर दी थी। वहीं दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी में 431 रन बनाए थे। भारत दूसरी पारी में 71 रनों की बढ़त के साथ उतरा था।

दूसरी पारी में भारत के लिए रोहित शर्मा ने 127 रनों की पारी खेली। उन्होंने 149 गेंदों का सामना किया और 10 चौके तथा सात छक्कों की मदद से इस मैच में अपना दूसरा शतक जमाया। उनके अलावा चेतेश्वर पुजारा ने 148 गेंदों पर 81 रन बनाए। दक्षिण अफ्रीका के लिए केशव महाराज ने दो विकेट लिए। वेर्नोन फिलेंडर और कागिसो रबाडा के हिस्से एक-एक विकेट आया।

चौथे दिन दक्षिण अफ्रीकी पारी के124वें ओवर की चौथी गेंद पर अश्विन ने केशव महाराज को अपना छठां शिकार बनाया। अश्विन ने महाराज को मयंक अग्रवाल के हाथों कैच आउट करवाकर साउथ अफ्रीका को 396 रन पर नौवां झटका दे दिया। महाराज बड़ा शॉट खेलना चाहते थे और इसी चक्कर में वह हवा में लंबा शॉट खेल बैठे और गेंद लॉन्ग ऑन की ओर मयंक के हाथों में समा गई।

यह भी पढ़ें :

रोहित शर्मा बने टेस्ट मैच के सिक्सर किंग, बनाया नया विश्व कीर्तिमान

रवींद्र जडेजा ने रचा नया इतिहास, 200 टेस्ट विकेट लेकर बनाया खास रिकॉर्ड

विराट सेना ने गंवाए मौके

टीम इंडिया को मैच के तीसरे दिन मैदान पर फिल्डर्स का सुस्त होना भारी पड़ गया। 74 रन के स्कोर पर एल्गर का कैच छूटा बाद में उन्होंने 160 रन ठोक दिए, तो भारत में अपना पहला टेस्ट खेल रहे क्विंटन डीकॉक ने भी दो जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए 111 रन की पारी खेल डाली। दोनों के अलावा कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने भी अर्धशतक लगाया।

एल्गर के साथ उनकी साझेदारी से बौखलाए भारतीय गेंदबाजों ने दिन का आखिरी सेशन में लगातार विकेट चटकाते हुए मैच में वापसी करने की पुरजोर कोशिश की। अब शनिवार को टेस्ट मैच का चौथा दिन बेहद अहम होगा।