ये हैं विश्‍व के महान स्‍पिन गेंदबाज, जिनकी ‘उंगलियों’ पर नाचते थे बल्लेबाज  

मुरलीधरन, शेन वॉर्न और अनील कुंबले - Sakshi Samachar

हैदराबाद : क्रिकेट के दुनिया में जहां तेज गेंदबाजों का जितना अहमियत होता है उतनी ही अहमियत स्पिनर का भी होता है। तेज गेंदबाज अपनी रफ्तार से बल्लेबाजों को परेशान करता है तो वहीं स्पिन गेंदबाज बल्लेबाजों को पनी फिरकी के जादू से अपनी उंगलियों पर नचाते हैं। आइए जानते हैं विश्व के ऐसे ही महानतम स्‍पिनर्स बारे में जिन्‍होंने टेस्‍ट क्रिकेट में 200 या उससे ज्‍यादा विकेट लेने का कमाल कर दिखाया।

मुथैया मुरलीधरन

श्रीलंकाई क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन ने अपनी फेमस बोलिंग स्टाइल के साथ न जाने कितने तरीकों से बल्लेबाजों को चकमा दिया है। मुरली को क्रिकेट की बाइबिल कही जाने वाली पुस्तक विजडन में महानतम टेस्ट मैच गेंदबाज का दर्जा दिया गया था। उन्होंने 22 जुलाई 2010 में अपने अंतिम टेस्ट मैच की अपनी अंतिम गेंद पर अपना 800वां और अंतिम विकेट लेकर 2010 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया।

शेन वॉर्न

ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन वॉर्न को विजडन ने पांच सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में जगह दी थी। वॉर्न के नाम टेस्ट क्रिकेट में 708 विकेट लेने का रिकॉर्ड है।

अनिल कुंबले

टीम इंडिया के पूर्व कोच और भारतीय स्पिनर अनिल कुंबले विश्व के तीसरे सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं। अपनी खतरनाक लेगब्रेक गुगली के लिए मशहुर कुंबले ने टेस्ट मैच में 619 विकेट लिए हैं। वे टेस्ट क्रिकेट इतिहास में एक टेस्ट पारी में 10 विकेट लेनेवाले इंग्लैंड के जिम लेकर के बाद केवल दूसरे गेंदबाज हैं।

हरभजन सिंह

भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने टेस्ट क्रिकेट में 417 विकेट हासिल किए हैं। वे पहले भारतीय गेंदबाज हैं जिन्होंने टेस्ट मैच में हैट्रिक लगाने का कारनामा किया है।

इसे भी पढ़ें :

अनोखा रिकॉर्ड : ऐसा शख्स जो दोनों टाई टेस्ट मैचों का बना है गवाह

डेनियल विटोरी

न्यूजीलैंड के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलने वाले इस लेफ्ट आर्म क्रिकेटर का नाम भी क्रिकेट की दुनिया में बड़े सम्मान से लिया जाता है। विटोरी ने अपने देश के लिए 1997 से 2014 तक क्रिकेट खेला और कुल 362 विकेट हासिल किए।

लॉन्स गिब्स

वेस्ट इंडीज की क्रिकेट टीम हालाकि अपने तेज गेंदबाजों के लिए फेमस रही है, लेकिन उनके देश के लिए लॉन्स गिब्स जैसे उच्च स्तरीय स्पिन गेंदबाज भी खेलते रहे हैं। 1958 से लेकर 1976 तक के अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करिया में गिब्स से अपनी स्पिन के कमाल से 300 टेस्ट विकेट हासिल किए थे।

बिशन सिंह बेदी

भारत की क्रकेट टीम ने हमेशा शानदार स्पिनर्स दुनिया के सामने प्रस्तुत किए हैं। इन्हीं में से एक नाम है 1966 से 1979 के बीच खेलने वाले बिशन सिंह बेदी का। वे प्रसिद्ध भारतीय स्पिन चौकड़ी का हिस्सा भी थे। उन्होंने 22 टेस्ट मैचों में भारत की कप्तानी भी की है। अपने 67 टेस्ट मैच के करियर में बेदी ने 266 विकेट लिए। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 98 रन देकर 7 विकेट लेने का रहा।

इसे भी पढ़ें :

Daughters day 2019 : इन क्रिकेटरों की अपनी बेटियों में बसती है जान

भगवत चंद्रशेखर

भारत की फेमस स्पिन चौकड़ी के एक सदस्य भगवत चंद्रशेखर भी थे। अपने पोलियोग्रस्त हाथ से कमाल की लेग स्पिन करने वाले चंद्रशेखर ने 1962 से 1979 के दौरान भारत के लिए 58 क्रिकेट मैच खेले और 242 विकेट लिए।

अब्दुल कादिर

ये फेहरिस्त पाकिस्तानी स्पिन गेंदबाज अब्दुल कादिर के बिना पूरी नहीं होगी। लेग स्पिन के मास्टर कहे जाने वाले कादिर ने 1977 से 1990 तक पाकिस्तान के लिए 67 टेस्ट मैच खेले और 236 विकेट हासिल किए।

रिची बेनो

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान और स्पिन बोलर रिची बेनो ने 1952 से 1964 के दौरान कुल 63 मैच खेले और 200 टेस्ट विकेट लिए। बेनो के नाम 2000 टेस्ट रन भी हैं।

Advertisement
Back to Top