मोहाली : दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्तान क्विंटन डी कॉक ने दूसरे टी-20 में भारत के हाथों मिली हार के बावजूद अपने युवा साथियों की जमकर तारीफ की। डी काक ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि उनके साथी तीसरे और अंतिम मैच में अच्छा खेलते हुए सीरीज में बराबरी करने में सफल रहेंगे।

पंजाब क्रिकेट संघ मैदान पर टास हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने अपने कप्तान के 52 रनों की बदौलत 20 ओवरों में पांच विकेट पर 149 रन बनाए। जवाब में भारत ने कप्तान विराट कोहली के नाबाद 72 रनों की बदौलत सात विकेट से जीत हासिल कर ली।

इस मैच में बायुमा के अलावा एनरिच नोटर्जे और बोर्न फोट्यूइन ने पदार्पण किया। मेहमान टीम आईसीसी विश्व कप के लीग स्तर से बाहर होने के बाद खुद को फिर से संगठित करने में जुटी है।

मैच के बाद डी कॉक ने कहा, "हमारी शुरूआत अच्छी रही। पारी के अंतिम क्षणों में हमने गेंदबाजी भी अच्छी की। भारतीय टीम ने हालात का हमसे बेहतर इस्तेमाल किया।"

इसे भी पढ़ें :

इस दिग्गज को पछाड़कर कोहली बने सर्वाधिक टी20 अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाले खिलाड़ी

डी कॉक ने कहा, "पहली बार खेल रहे कुछ युवाओं पर काफी दबाव था। इन लोगों ने दुनिया की सबसे अच्छी टीमों में से एक के खिलाफ इस दबाव को बखूबी झेला।"

कॉक ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि उनकी टीम बेंगलुरू में रविवार को होने वाले तीसरे और अंतिम मुकाबले में जीत हासिल करते हुए सीरीज में बराबरी हासिल कर लेगी।

कप्तान ने कहा, "मैं विकेट पर जाने के लिए काफी उतावला था। मुझे आशा है कि मेरे युवा साथी इस हार को भुलाकर नए सिरे से शुरूआत करेंगे और बेंगलुरू में जीत हासिल कर सीरीज में बराबरी करेंगे।"

इसे भी पढ़ें :

विराट का अर्धशतक, भारत ने दक्षिण अफ्रीका को हराकर टी-20 सीरीज में बनाई 1-0 की बढ़त

World Wrestling Championshipn: विनेश ने ब्रॉंज मेडल, टोक्यो ओलम्पिक के लिए रास्ता साफ

उल्लेखनीय है कि सीरीज का पहला मैच धर्मशाला में खेला जाना था, लेकिन बारिश के कारण वह मैच रद्द कर दिया गया था।