लंदन : इंग्लैंड में खेले जा रहे एशेज श्रृंखला के पांचवे और अंतिम टेस्ट में इंग्लैंड की टीम ने चिर प्रतिद्वंद्वी ऑस्ट्रेलिया को रविवार को 135 रन से हरा दिया, जिससे दोनों देशों के बीच यह श्रृंखला 2-2 की बराबरी पर छूटा। 47 साल बाद एशेज सीरीज ड्रॉ खेली गई। इससे पहले 1972 में दोनों देशों ने ड्रॉ सीरीज खेली थी।

उल्‍लेखनीय है कि तब भी एशेज सीरीज इंग्‍लैंड में खेली गई थी, जो ड्रॉ रही थी। इस शताब्‍दी में इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया दोनों ने पांच-पांच बार सीरीज अपने नाम की।

‘द ओवल' में खेले गए इस मैच में इंग्लैंड की जीत से दोनों देशों के बीच यह ऐशेज श्रृंखला 1972 के बाद पहली बार बराबरी पर छूटी है। ऑस्ट्रेलिया की टीम जीत के लिए 399 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए मैच के चौथे दिन ऑल आउट हो गयी और इंग्लैंड ने इस मैच को आसानी से 135 रनों से जीत लिया।

इसे भी पढ़ें :

Ashes 2019 : स्टीव स्मिथ ने लगाया लगातार 10वां अर्धशतक, तोड़ डाले कई रिकॉर्ड्स

एक साल का प्रतिबंध लगाने वाले इस दिग्गज ने कहा-स्मिथ दोबारा बनेंगे ऑस्ट्रेलिया के कप्तान

श्रृंखला में ऑस्ट्रेलिया 2-1 से आगे थी और 2001 के बाद पहली बार इंग्लैंड में एशेज जीतने की कोशिश में थी, लेकिन इंग्लैंड की टीम ने उन्हें रोका। मेहमान की हार में मुख्य भूमिका इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने निभाई और इसके लिए उन्हें ‘मैन आफ द मैच' का पुरस्कार दिया गया। जोफ्रा ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के छह विकेट झटके थे। इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने इस पर कहा, ‘‘बेहतरीन प्रदर्शन।''