लॉडरहिल T-20 : सीरीज पर कब्जा करने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

टीम इंडिया  - Sakshi Samachar

लॉडरहिल : पहले टी-20 मैच में चार विकेट से रोमांचक जीत दर्ज करने वाली भरतीय क्रिकेट टीम रविवार को फ्लोरिडा के सेंट्रल ब्रोवार्ड रीजनल पार्क स्टेडियम में दूसरे टी-20 मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज जीतने के इरादे से मैदान पर उतरेगी।

तीन मैचों की टी-20 सीरीज में भारतीय टीम 1-0 से आगे चल रही है। शनिवार को दोनों टीमों के बीच यहां सीरीज का पहला टी-20 मैच हुआ था।

भारतीय टीम अगर दूसरा मुकाबला जीत लेती है तो वेस्टइंडीज के खिलाफ विदेश में आठ साल बाद सीरीज जीतने का गौरव हासिल करेगी। पिछली बार भारत ने 2011 में वेस्टइंडीज में 1-0 से सीरीज जीता था।

दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 12 टी-20 मुकाबले खेले गए हैं। इनमें से भारतीय टीम ने छह में जीत दर्ज की है जबकि वेस्टइंडीज को पांच मैचों में जीत मिली है। एक मुकाबले में नतीजा नहीं निकला।

पहले टी-20 में तीन विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज नवदीप सैनी पर सबकी नजरें होंगी। अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल रहे सैनी ने पहले टी-20 मुकाबले में चार ओवर में महज 17 रन देकर तीन विकेट लिए और मेजबान टीम के मिडिल ऑर्डर की कमर तोड़ दी। सैनी के अलावा, अनुभवी भुवनेश्वर कुमार समेत अन्य गेंदबाजों का प्रदर्शन भी दमदार रहा।

कप्तान विराट कोहली के लिए सबसे बड़ी चिंता उनकी बल्लेबाजी है। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को छोड़कर सभी बल्लेबाज मेजबान टीम की गेंदबाजी के सामने परेशान नजर आए। रोहित शर्मा ने पिछले मुकाबले में 24 रनों की पारी खेली और उनके पास दूसरे टी-20 में क्रिस गेल को रिकॉर्ड तोड़ने का मौका है।

रोहित शर्मा टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में अबतक 104 छक्के लगा चुके हैं। इस प्रारूप में सबसे ज्याद छक्के जड़ने का कीर्तिमान गेल के नाम है। यदि दूसरे मैच में रोहित दो छक्के लगा लेते हैं तो वह वेस्टइंडीज के बल्लेबाज के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे।

यह भी पढ़ें :

कोहली ने इंस्टाग्राम पर डाली फोटो तो फैन्स ने पूछा यह सवाल

टीम इंडिया ने पहले टी-20 मैच में वेस्टइंडीज को चार विकेट से हराया

कोहली के लिए नंबर-4 इस टी-20 में भी समस्या बना हुआ है। ऋषभ पंत पिछले मैच में बिना कोई रन बनाए पहली गेंद पर ही पवेलियन लौट गए और कप्तान चाहेंगे कि दूसरे मुकाबले में वह जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी करें।

दूसरी ओर, मेजबान टीम की भी परेशानी उसकी बल्लेबाजी ही है। निकोलस पूरन और केरन पोलार्ड को छोड़कर पहले मैच में कोई भी बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाया। टीम को क्रिस गेल की कमी भी खल रही है।

Advertisement
Back to Top