बर्मिघम : तकरीबन डेढ़ साल बाद सफेद जर्सी में वापसी कर रहे स्टीवन स्मिथ ने एजबेस्टन क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जा रहे एशेज सीरीज के पहले टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को 144 रनों की धमाकेदार पारी खेल ऑस्ट्रेलिया को कम स्कोर पर सिमटने से बचा लिया।

एक समय ऑस्ट्रेलिया का 150 पार जाना भी मुश्किल लग रहा था लेकिन स्मिथ ने एक छोर संभाले रखा और ऑस्ट्रलिया को पहली पारी में 284 का स्कोर दिया। इंग्लैंड के लिए पांच विकेट लेने वाले स्टुअर्ट ब्रॉड ने स्मिथ को आउट कर आस्ट्रेलिया को ऑल आउट किया। नाथन लॉयन 12 रन बनाकर नाबाद रहे। स्मिथ ने 219 गेंदों का सामना किया और 16 चौके तथा दो छक्के लगाए।

दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड ने दो ओवरों में बिना विकेट खोए 10 रन बना लिए हैं। उसकी जेसन रॉय (6) और रोरी बर्न्‍स (4) की सलामी जोड़ी पहले दिन नाबाद लौटी।

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। ब्रॉड और क्रिस वोक्स ने मेहमान टीम का हालत खराब कर दी और पहले ही सत्र में तीन विकेट चटका दिए। पहले ही सत्र में स्मिथ कदम रख चुके थे। दूसरे सत्र में इंग्लैंड के गेंदबाज और हावी हो गए। इस सत्र में ऑस्ट्रेलिया ने पांच और विकेट खोए।

122 रनों पर अपने आठ विकेट खोने वाली ऑस्ट्रेलिया की राह मुश्किल लग रही थी, लेकिन स्मिथ एक छोर पर इंग्लैंड के लिए मुसीबत बनकर खड़े हुए थे। वे बेहद समझदारी से पारी को आगे बढ़ा रहे थे। इस प्रयास में पीटर सीडल (44) ने उनका बेहतरीन साथ दिया। दोनों ने मिलकर नौवें विकेट के लिए 88 रनों की साझेदारी की।

सिडल को दिन के तीसरे सत्र में मोइन अली ने अपना शिकार बनाया। सिडल ने अपनी पारी में 85 गेंदों का सामना किया और चार चौके मारे।

सिडल जब आउट हुए तब स्मिथ 85 रन पर थे और लग रहा था कि वह शतक पूरा नहीं कर पाएंगे। उनको हालांकि नाथन लॉयन का साथ मिला। स्मिथ ने बेन स्टोक्स द्वारा फेंके गए 73वें ओवर में चौका मार अपना शतक पूरा किया। यह टेस्ट में उनका कुल 24वां शतक और एशेज सीरीज में नौवां शतक है।

लॉयन के साथ मिलकर वह टीम के स्कोरबोर्ड को लगातार आगे बढ़ा रहे थे। आखिरी विकेट बचा था और शतक पूरा करने के बाद स्मिथ आक्रामक हो गए थे। उन्होंने कुछ बड़े शॉट्स खेले लेकिन अंतत: ब्रॉड की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने लॉयन के साथ 10वें विकेट लिए 74 रनों की साझेदारी की।

इंग्लैंड के लिए ब्रॉड के अलावा वोक्स ने तीन विकेट लिए। स्टोक्स और अली ने एक-एक विकेट अपने नाम किया।

पहले सत्र में ऑस्ट्रेलिया ने 83 रन बनाकर तीन विकेट खो दिए थे। स्मिथ और ट्रेविस हेड पैर जमाने की कोशिश में थे लेकिन दूसरे सत्र में हेड के रूप में ऑस्ट्रेलिया ने अपना पहला विकेट खोया। 35 रन बनाने वाले हेड 99 के कुल स्कोर पर वोक्स का शिकार बने। उन्होंने स्मिथ के साथ चौथे विकेट के लिए 64 रनों की साझेदारी की।

यहां से इंग्लैंड लगातार विकेट लेती चली गई। मैथ्यू वेड (1), कप्तान टिम पेन (5), जेम्स पैटिनसन (0) और पैट कमिंस (5) को इंग्लैंड के गेंदबाजों ने पवेलियन भेज मेहमान टीम को दबाव में ला दिया।

इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। ब्रॉड ने उसे अच्छी शुरुआत नहीं करने दी और तकरीबन डेढ़ साल बाद वापसी कर रहे डेविड वार्नर (2) को दो के कुल स्कोर पर एलबीडब्ल्यू कर दिया।

कैमरून बैनक्रॉफ्ट भी वापसी को सार्थक नहीं कर पाए। वह भी ब्रॉड का शिकार बने। आठ रन बनाने वाले बैनक्रॉफ्ट को स्लिप पर जोए रूट ने 17 के कुल स्कोर पर लपका।

वोक्स ने 35 के कुल स्कोर पर ऑस्ट्रेलिया को तीसरा झटका दिया। इस बार उस्मान ख्वाजा को 13 के निजी स्कोर पर पवेलियन लौटना पड़ा।