नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम वेस्टइंडीज के दौरे पर जा है और इस दौरे पर विराट कोहली अपना फैसला बदलते हुए टीम का नेतृत्व करने जा रहे हैं, लेकिन ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या भारतीय क्रिकेट की के दोनों के में एकजुट होकर शानदार प्रदर्शन करेंगे या फिर वेस्टइंडीज के टूर में भी भारतीय टीम धोखे में वह बंटी नजर आएगी।

आपको बता दें कि विश्व कप के सेमीफाइनल मैच में हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम दो खेमों में बढ़ती हुई नजर आई थी। एक खेमे में रोहित शर्मा और दूसरे खेमे में विराट कोहली के साथ कोच रवि शास्त्री देखे जा रहे थे। माना जा रहा था कि कई फैसलों को लेकर इन दोनों खिलाड़ियों के साथ-साथ कोच के बीच मतभेद था। कई मौके पर रोहित शर्मा ने टीम के सेलेक्शन के साथ साथ अंतिम एकादश के चयन में भी कोच विराट कोहली के फैसले पर आपत्ति जताई थी।

यहां तक कहा जा रहा था कि सेमीफाइनल मैच में मोहम्मद शमी को बाहर किए जाने के साथ साथ रविंद्र जडेजा को और भी ज्यादा मौका न दिए जाने से रोहित शर्मा नाराज थे। इसके अलावा कई बार अंतिम 11 खिलाड़ियों के चयन में कई खिलाड़ियों को दरकिनार किए जाने के साथ-साथ बैटिंग ऑर्डर को भी लेकर कई बार उनके बीच कहासुनी हुई थी।

कई समाचारपत्रों ने इस बात को हवा देते हुए हैं अपने तर्क को साबित करने की कोशिश की है कि सेमीफाइनल मैच के दौरान जब रवींद्र जडेजा चौके और छक्के लगा रहे थे तब केवल रोहित शर्मा ही ड्रेसिंग रूम से उनका उत्साह बढ़ा रहे थे। इसीलिए रोहित शर्मा के गुट ने सेमीफाइनल में हार के बाद से ही विराट कोहली को कप्तानी से हटाने की बात कहने शुरू कर दी थी। इस बात को कोच जी. भरत ने भी माना कि खिलाड़ी एक यूनिट के तौर पर काम कर रहे हैं लेकिन कभी ऐसी बातें सामान्य बात है।

इसे भी पढ़ें :

वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का ऐलान, इन खिलाड़ियों को मिला मौका

वेस्टइंडीज दौरे से पहले अचानक छुट्टी से लौटे कोहली, क्या यह है वजह ?

रोहित बन सकते थे खतरा

यह भी कहा जा रहा है कि विराट कोहली रोहित शर्मा को वेस्टइंडीज दौरे पर कप्तान बना कर भेजे जाने के लिए पहले तो तैयार थे और खुद के लिए बीसीसीआई से छुट्टी मांगी थी ताकि वह कुछ दिन आराम कर सकें। लेकिन इस तरह की खबरों के बीच जो उन्हें यह पता चला कि रोहित शर्मा और बेहतर प्रदर्शन करते हुए उनके लिए खतरा बन सकते हैं, तो उन्होंने आराम करने का मन बदल दिया और टीम की कप्तानी करते हुए वेस्टइंडीज जाने को तैयार हो गया। ऐसी स्थिति में अब तो यह बात साफ हो गई है कि रोहित शर्मा और विराट कोहली के बीच इस दौरे पर भी जंग जारी रहेगी और दोनों खिलाड़ी एक दूसरे से बेहतर प्रदर्शन करके खुद को एक दूसरे से बेहतर साबित करने की पुरजोर कोशिश करेंगे।

अब सवाल यह उठता है कि बाकी खिलाड़ियों का क्या होगा और टीम कंबीनेशन किस तरह से तैयार किया जाएगा। इतना ही नहीं अब इस कंबीनेशन को तैयार करने में रोहित शर्मा और विराट कोहली की कितनी भूमिका होगी। सबकी नजर अब मैच के परिणाम के साथ साथ अंतिम एकादश पर भी होगी और देखना यह होगा कि किन खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा मैच खेलने का मौका मिलता है।