नई दिल्लीः आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के रोमांचक फाइनल ने पूरी दुनिया का दिल जीत लिया। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच हुआ ये विश्व कप फाइनल टाई रहा था, जिसके बाद सुवर ओवर हुआ और यहां भी मैच टाई रहा। लेकिन सबसे ज्यादा बाउंड्री वाले नियम के आधार पर मेजबान इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया।

इंग्लैंड की टीम ने पहली बार विश्व चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया। न्यूजीलैंड की टीम को बेशक हार मिली लेकिन उनके लिए एक अच्छी खबर भी आई। उनके कप्तान केन विलियमसन को मैन ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब मिला।

मैच के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में सब लोग तब चौंक गए जब मैन ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब केन विलियमसन को देने का ऐलान हुआ। महान पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने उन्हें ये अवॉर्ड दिया।

केन विलियमसन को ये अवॉर्ड देने पर तमाम फैंस ने तुरंत सोशल मीडिया पर आपत्ति भी जाहिर करनी शुरू कर दी। इसकी वजह ये है कि इस पूरे विश्व कप में कई खिलाड़ी ऐसे रहे जो विलियमसन से ज्यादा हकदार नजर आ रहे थे।

इसे भी पढ़ें :

रोहित शर्मा को ही मिलेगा गोल्डेन बैट का अवॉर्ड, रनों व शतकों में सबसे हैं आगे

World Cup 2019 :  सुपर ओवर भी टाई करके विश्व विजेता बना इंग्लैंड

वर्ल्ड कप में जीत मिलते ही ऐसा करने वाली तीसरी टीम होगी इंग्लैंड, टूट सकते हैं ये रिकॉर्ड

उठ रहे हैं सवाल

केन विलियमसन ने 10 मैचों में 578 रन बनाए और शानदार कप्तानी के दम पर अपनी टीम को फाइनल तक पहुंचाया, शायद यही वजह रही कि उनको मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया लेकिन कई ऐसे खिलाड़ी भी थे जिनको लोग केन से ज्यादा हकदार मान रहे थे- ये खिलाड़ी हैं, रोहित शर्मा और शाकिब अल हसन।

रोहित शर्मा ने विश्व कप 2019 में रिकॉर्ड 5 शतक जड़ते हुए 648 रन बनाए जबकि बांग्लादेश के शाकिब अल हसन ने 8 मैचों में 606 रन बनाने के साथ-साथ 11 विकेट भी चटकाए थे।