World Cup 2019: इस इंग्लिश खिलाड़ी का छलका दर्द, कहा-सब देखना चाहते हैं इंग्लैंड की हार

जॉनी बेयरस्टो - Sakshi Samachar

लंदन : इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो मानते हैं कि कई लोग हैं जो यह चाहते हैं कि उनकी टीम मौजूदा विश्व कप में नाकाम रहे। टूर्नामेंट में खिताब की दावेदार मानी जा रही इंग्लैंड की टीम ग्रुप स्तर पर तीन मैच हार चुकी है और उसके सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को गहरा नुकसान हुआ है।

क्रिकइंफो ने जॉनी बेयरस्टो के हवाले से लिखा है, "लोग चाहते थे कि हम नाका हों। वे नहीं चाहते कि हम जीतें। यह इंग्लैंड में होता है। इसमें कोई नई बात नहीं।"

सलामी बल्लेबाज ने अपने साथियों से कहा कि वे चारों ओर हो रही आलोचनाओं से घबराएं नहीं और बाकी बचे मैचों में अपना स्वाभाविक खेल खेलने पर ध्यान केंद्रित करें। बेयर्सटो ने कहा, "हमें रिलैक्स होने की जरूरत है। आप जितना दबाव लेंगे, आप उतना ही अपने अंदर सिमटते जाएंगे। ऐसे में आप अपना स्वाभाविक खेल नहीं खेल सकते।"

जॉनी बेयरस्टो मौजूदा विश्व कप में अब तक खेले 7 मैच की 7 पारियों में 245 रन बना चुके हैं। वो अपनी टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में चौथे पायदान पर हैं। विश्व कप के उद्घाटन मैच की पहली गेंद पर खाता खोले बगैर पवेलियन लौटने वाले जॉनी बेयरस्टो ने इसके बाद पाकिस्तान के खिलाफ 32, बांग्लादेश के खिलाफ 51, वेस्टइंडीज के खिलाफ 45 रन की पारी खेली।

इसे भी पढ़ें :

World Cup 2019 : ये हैं अब तक सबसे ज्यादा रन और विकेट बटोरने वाले खिलाड़ी

श्रीकांत ने दी टीम इंडिया को बड़ी सलाह, ऐसे करिए खेलने वाले 11 खिलाड़ियों का चयन

इसके बाद उनका बल्ला अफगानिस्तान के खिलाफ जमकर चला और उन्होंने 90 रन की पारी खेली। लेकिन फॉर्म का ये सिलसिला श्रीलंका के खिलाफ जारी नहीं रहा और वो एक बार फिर खाता खोले बगैर पवेलियन वापस लौट गए। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी वो केवल 27 रन बना सके। इन दोनों ही मैचों में इंग्लैंड को हार का मुंह देखना पड़ा। और अब सेमीफाइनल में जगह पक्की करने के लिए उसे संघर्ष करना पड़ रहा है।

पाकिस्तान, श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया तीनों के खिलाफ इंग्लैंड को हार का मुंह देखना पड़ा और इन तीनों ही मैचों में टीम को अच्छी शुरुआत नहीं मिली। और अंत में टीम को हार का मुंह देखना पड़ा। ऐसे में अंतिम दो मुकाबलों में भारत और न्यूजीलैंड के खिलाफ बेयर्स्टो के बल्ले का चलना जरूरी है। यदि ऐसा होता है तो इंग्लैंड की जीत की संभावनाएं बढ़ जाएंगी।

Advertisement
Back to Top