साउथैंप्टन : शाकिब अल हसन के हरफनमौला प्रदर्शन के दम पर बांग्लादेश ने यहां रोज बाउल में खेले गए विश्व कप के मैच में अफगानिस्तान को 62 रनों से पराजित किया। गेंद से शाकिब ने 10 ओवर में महज 29 रन देकर पांच विकेट लिए जबकि बल्लेबाजी के दौरान उन्होंने 51 रनों की पारी खेली। उन्हें 'मैन ऑफ द मैच' भी चुना गया।

अफगानिस्तान के पूरी टीम बांग्लादेश द्वारा दिए गए 263 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 47 ओवर में 200 रनों पर सिमट गई। समिउल्लाह सेनवारी ने सबसे अधिक नाबाद 49 रन बनाए जबकि कप्तान गुलबदीन नैब ने 47 रनों का योगदान दिया। शाकिब के अलावा मुस्ताफिजुर रहमान ने दो विकेट लिए जबकि मोसद्दक हुसैन और मोहम्मद सैफुद्दीन को एक-एक विकेट लिया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए नैब और रहमत शाह ने अफगानिस्तान को अच्छी शुरुआत दिलाई। अफगानिस्तान का पहला विकेट 49 के कुल योग पर शाह (24) के रूप में गिरा जिसे शाकिब ने लिया। हसमतुल्लाह शाहिदी ने अपने कप्तान का साथ निभाने की कोशिश की, लेकिन हुसैन ने उन्हें 11 के निजी स्कोर पर आउट करके अफगानिस्तान को दूसरा झटका दिया। दूसरे विकेट के लिए नैब और शाहिदी के बीच 30 रनों की सोझदारी हुई।

तीसेर विकेट के लिए असगर अफगान ने नैब के साथ मिलकर 25 रनों की सोझेदारी की। नैब को पवेलियन भेजकर इस साझेदारी को शाकिब ने तोड़ा। भारत के खिलाफ दमदार प्रदर्शन करने वाले मोहम्मद नबी अपना खात भी नहीं खोल पाए और शाकिब का तीसरा शिकार बने।

अफगानिस्तान के स्कोर में अभी 13 रन ही जुड़े थे कि अफगान (20) भी आउट हो गए। शानदार फॉर्म में चल रहे शाकिब ने उनका विकेट लेकर मैच में बांग्लादेश को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। इकराम अली खिल 11 के स्कोर पर रन आउट हुए।

सातवें विकेट के लिए सेनवारी ने नजीबुल्लाह जादरान के साथ मिलकर 56 रन जोड़े। जादरान को 23 के निजी स्कोर पर पवेलियन भेजकर शाकिब ने अफगानिस्तान की वापसी के सारे रास्ते बंद कर दिए। सेनवारी एक छोर पर टिके रहे, लेकिन कोई भी खिलाड़ी उनका साथ नहीं दे पाया।

इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की शुरुआत अच्छी नहीं रही। सलामी बल्लेबाज लिटन दास (16) को 23 के कुल योग पर आउट करके मुजीब ने बांग्लादेश को पहला झटका दिया।

दूसरे विकेट के लिए तमीम इकबाल और शाकिब के बीच 59 रनों की सोझदारी हुई। इकबाल को 36 के निजी स्कोर पर पवेलियन भेजकर इस साझेदारी को नबी ने तोड़ा। इकबाल ने 53 गेंदों की पारी में चार चौके लगाए।

इकबाल के जाने के बाद शाकिब ने रहीम के साथ पारी को आगे बढ़ाया। इस बीच दुनिया के नंबर-1 ऑलराउंडर शाकिब ने विश्व कप में अपने 1000 रन भी पूरे किए। वह विश्व कप में 1000 या उससे अधिक रन बनाने वाले बांग्लादेश के पहले बल्लेबाज बने।

शाकिब (51) को आउट करके मुजीब उर रहमान ने विपक्षी टीम को तीसरा झटका दिया। सौम्य सरकार (3) भी ज्यादा देर नहीं टिक पाए और मुजीब को अपना विकेट दे बैठे।

इसके बाद, मुश्फीकुर रहीम ने महमुदुल्लाह (27) के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए 56 रनों की साझेदारी की और टीम के स्कोर को 200 के पार ले गए। 207 के कुल योग पर कप्तान नैब ने महमुदुल्लाह को पवेलियन भेजा। हुसैन और रहीम ने छठे विकेट के लिए 44 रन जोड़े। अंत के ओवरों में तेजी से रन बनाने के चक्कर में रहीम 83 के निजी स्कोर पर दौलत जादरान का शिकार बने।

रहीम ने 87 गेंदों की पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया। हुसैन ने 35 रनों का योगदान दिया, उन्हें नैब ने आउट किया। मोहम्मद सैफुद्दीन दो रन बनाकर नाबाद रहे। अफगानिस्तान की ओर से मुजीब ने तीन और नैब ने दो विकेट लिए। नबी और जादरान को एक-एक विकेट मिला।

रहीम ने 83 और शाकिब ने 51 रनों को अहम योगदान दिया। अफगानिस्तान की ओर से मुजीब उर रहमान ने तीन और कप्तान गुलबदीन नैब ने दो विकेट लिया। मोहम्मद नबी और दौलत जादरान को एक-एक विकेट मिला।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की शुरुआत अच्छी नहीं रही। सलामी बल्लेबाज लिटन दास (16) को 23 के कुल योग पर आउट करके मुजीब ने बांग्लादेश को पहला झटका दिया।

दूसरे विकेट के लिए तमीम इकबाल और शाकिब के बीच 59 रनों की सोझदारी हुई। इकबाल को 36 के निजी स्कोर पर पवेलियन भेजकर इस साझेदारी को नबी ने तोड़ा। इकबाल ने 53 गेंदों की पारी में चार चौके लगाए।

इकबाल के जाने के बाद शाकिब ने रहीम के साथ पारी को आगे बढ़ाया। इस बीच दुनिया के नंबर-1 ऑलराउंडर शाकिब ने विश्व कप में अपने 1000 रन भी पूरे किए। वह विश्व कप में 1000 या उससे अधिक रन बनाने वाले बांग्लादेश के पहले बल्लेबाज बने।

शाकिब (51) को आउट करके मुजीब ने विपक्षी टीम को तीसरा झटका दिया। सौम्य सरकार (3) भी ज्यादा देर नहीं टिक पाए और मुजीब को अपना विकेट दे बैठे।

इसके बाद, रहीम ने महमुदुल्लाह (27) के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए 56 रनों की साझेदारी की और टीम के स्कोर को 200 के पार ले गए। 207 के कुल योग पर कप्तान गुलबदीन नैब ने महमुदुल्लाह को पवेलियन भेजा।

मोसद्दक हुसैन और रहीम ने छठे विकेट के लिए 44 रन जोड़े। अंत के ओवरों में तेजी से रन बनाने के चक्कर में रहीम 83 के निजी स्कोर पर जादरान का शिकार बने।

रहीम ने 87 गेंदों की पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया। हुसैन ने 35 रनों का योगदान दिया, उन्हें नैब ने आउट किया। मोहम्मद सैफुद्दीन दो रन बनाकर नाबाद रहे।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी बांग्लादेश की टीम को लिटन दास के रुप में पहला झटका लगा। वह 16 रन बनाकर आउट हुए। अफगानिस्तान को पहली सफलता मुजीब उर रहमान ने दिलाई।

दोनों टीमों का यह सातवां मुकाबला है। बांग्लादेश के खाते में दो जीत, तीन हार और एक रद्द मैच से पांच अंक हैं और वह 10 टीमों की तालिका में छठे स्थान पर है।

दूसरी ओर, अफगान टीम को अब तक अपने सभी मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। इस टीम का अंकों का खाता भी नहीं खुल सका है। यह 10वें स्थान पर है।

टीम :

अफगानिस्तान : गुलबदीन नैब (कप्तान), समिउल्लाह सेनवारी, रहमत शाह, हसमतुल्लाह शाहिदी, असगर अफगान, मोहम्मद नबी, नजीबुल्लाह जादरान, इकराम अली खिल, राशिद खान, दौलत जादरान और मुजीब उर रहमान

बांग्लादेश : मशरफे मुर्तजा (कप्तान), तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, शाकिब अल हसन, मुस्ताफिजुर रहमान, मुश्फीकुर रहमान, लिटन दास, महमुदुल्लाह, मोसद्दक हुसैन, मोहम्मद सैफुद्दीन, मेहेदी हसन।