टांटन : पाकिस्तानी सलामी बल्लेबाज इमाम उल हक ने भारत के खिलाफ रविवार को होने वाले विश्व कप मैच को ‘भारी दबाव वाला' करार दिया जो कि आस्ट्रेलिया से हार के बाद उनकी टीम के लिये करो या मरो जैसा बन गया है।

कप्तान सरफराज अहमद और नौवें नंबर के बल्लेबाज वहाब रियाज के आाखिरी क्षणों में अच्छी बल्लेबाजी के बावजूद पाकिस्तान को बुधवार को यहां आस्ट्रेलिया से 41 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के बाद वह अंकतालिका में आठवें स्थान पर खिसक गया है।

इमाम से पूछा गया कि क्या इस हार से ओल्ड ट्रैफर्ड में होने वाला भारी दबाव वाला मैच उनके लिये करो या मरो जैसा बन गया है, उन्होंने कहा, ‘‘हां, हमारा एक मैच बारिश से धुल गया था जो कि हमारे लिये महत्वपूर्ण था। हमारे लिये अब प्रत्येक मैच महत्वपूर्ण बन गया है, इसलिए हां, आप ऐसा कह सकते हैं।

'' उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर इस तरह के मैच का हिस्सा होना शानदार है। यह मैनचेस्टर में होगा जहां काफी पाकिस्तानी प्रशंसक हैं, इसलिए मैं वास्तव में इसको लेकर उत्साहित हूं। पाकिस्तान और भारत, इसके पीछे बहुत सारे रहस्य हैं लेकिन हम केवल क्रिकेट में अपने मजबूत पक्षों और उन्हें बेहतर करने पर ध्यान दे रहे हैं।

'' इमाम आस्ट्रेलिया के खिलाफ 53 रन बनाकर आउट हुए और इससे वह काफी निराश हैं। एक समय पाकिस्तान का स्कोर दो विकेट पर 136 था लेकिन इमाम के आउट होते ही परिस्थिति बदल गयी और तीन अन्य विकेट जल्दी गिरने से स्कोर छह विकेट पर 160 हो गया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं अच्छा खेल रहा था तथा यह टीम मुझ पर और बाबर (आजम) पर निर्भर है।

इसे भी पढ़ें :

World Cup 2019 : ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 41 रनों से हराया, 266 रन पर सिमटी पूरी टीम

बाबर के आउट होने के बाद पारी को अच्छी तरह से आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी मेरी थी। मैं अच्छा खेल रहा था लेकिन यह अच्छी गेंद नहीं थी जिस पर मैं आउट हुआ। वेस्टइंडीज के खिलाफ भी ऐसा हुआ था। '' इमाम ने लेग साइड की तरफ जा रही शार्ट पिच गेंद को पुल करने के प्रयास में विकेटकीपर को कैच दिया। अगर वह इसे छोड़ देते तो यह वाइड होती।