साउथम्पटन : आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने पहले मैच में शतकीय पारी खेल भारत को बुधवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ छह विकेट से जीत दिलाने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा है कि उनकी कोशिश मुश्किल विकेट पर बेसिक्स पर बने रहने और साझेदारियां करने की थी।

रोहित ने गेंदबाजों की मददगार पिच पर 144 गेंदों पर 13 चौके और दो छक्कों की मदद से नाबाद 122 रनों की पारी खेली। यह रोहित का विश्व कप में दूसरा शतक है। इस पारी के लिए रोहित को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

मैच के बाद रोहित ने कहा, "इस पिच में गेंदबाजों के लिए कुछ था। मैं अपना स्वाभाविक खेल नहीं खेल सका। मुझे अपने शॉट्स खेलने में समय लगा। मुझे अपने कुछ शॉट्स भी रोकने पड़े। शुरुआत में मेरी कोशिश बॉल छोड़ने की थी। मैं अपने बेसिक्स पर बने रहना चाहता था और साझेदारियां करना चाहता था।"

ये भी पढ़ें: ICC World Cup 2019 : भारत ने रोहित के शानदार शतक से दक्षिण अफ्रीका को हराया

टीम के उप-कप्तान रोहित ने कहा कि टीम के हर बल्लेबाज का अपना काम है। किसी दिन कोई चलता है तो किसी कोई और।

रोहित ने कहा, "सभी बल्लेबाजों की अपनी जिम्मेदारी है। हम किसी एक के भरोसे नहीं रहते। यही इस टीम की पहचान है। हमने ऐसा ही किया। यह बड़ा टूर्नामेंट है और कभी कोई आगे आएगा तो कभी कोई।"

रोहित ने इंग्लैंड के मौसम पर कहा, "हम इंग्लैंड में गर्मियों की शुरुआत में खेल रहे हैं। आज के पूरे दिन मौसम अच्छा था, ज्यादा पसीना नहीं आया। मुझे खेलने में मजा आया, हालांकि यह रोहित शर्मा की पहचान वाली पारी नहीं थी, लेकिन अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए इस तरह की बल्लेबाजी करनी पड़ी।"

ये भी पढ़ें: रबाडा को कोहली ने दी खुली चुनौती, अफ्रीकी गेंदबाजों की ‘छेड़खानी’ पर करारा जवाब