कार्डिफ : भारत ने आईसीसी विश्व कप के अपने दूसरे अभ्यास मैच में मंगलवार को बांग्लादेश को 95 रनों से हरा दिया। सोफिया गार्डन्स मैदान पर खेले गए इस मैच में भारत ने महेंद्र सिंह धोनी (113) और लोकेश राहुल (108) की शतकीय पारियों के दम पर 50 ओवरों में सात विकेट खोकर 359 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था जिसे बांग्लादेश हासिल नहीं कर पाई और 49.3 ओवरों में 262 रनों पर ढेर हो गई।

बांग्लादेश के लिए मुश्फीकुर रहीम ने 94 गेंदों पर आठ चौके और दो छक्के की मदद से 90 रन बनाए। उनके अलावा लिटन दास ने 90 गेंदों पर 73 रन बनाए। दास की पारी में 10 चौके शामिल रहे।

इस जीत में एक बार फिर मध्य के ओवरों में भारतीय स्पिन जोड़ी युजवेंद्र चहल और कुलजीप यादव का कमाल देखने को मिला। दोनों ने रनों पर अंकुश लगाने के साथ ही मध्य के ओवरों में लगातार विकेट निकाले। दोनों ने तीन-तीन विकेट लिए। जसप्रीत बुमराह ने दो और रवींद्र जड़ेजा को एक सफलता मिली।

360 रनों का पीछा करने उतरी बांग्लादेश ने विकेट जल्दी नहीं खोया लेकिन उसकी शुरुआत धीमी रही। दास और सौम्य सरकार (25) भारतीय तेज गेंदबाजों के सामने रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे। 10वें ओवर की चौथी गेंद पर 49 के कुल स्कोर पर बुमराह ने सरकार को आउट कर दिया। शाकिब अल हसन को बुमराह ने अगली ही गेंद पर बेहतरीन यॉर्कर पर बोल्ड कर उन्हें बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया।

यहां से दास और रहीम ने साझेदारी की जिसने टीम के खाते में 120 रन जोड़े। इस जोड़ी को युजवेंद्र चहल ने दास को आउट कर तोड़ा। दास का विकेट 169 के कुल स्कोर पर गिरा। यहां से बांग्लादेश लगातार विकेट खोती रही और इसमें एक बार फिर भारत की स्पिन जोड़ी का अहम रोल रहा। रहीम भी 216 के कुल स्कोर पर कुलदीप यादव की गेंद पर बोल्ड हो गए।

मेहेदी हसन मिराज (27) के रूप में बांग्लादेश ने अपना आखिरी विकेट खोया। वह रन आउट हुए। इससे पहले, बल्लेबाजी की दावत मिलने पर पहली पारी खेलने उतरी भारत एक समय संकट में थी, लेकिन धोनी और राहुल ने अपने दम पर टीम को न सिर्फ अच्छी स्थिति में पहुंचाया बल्कि विशाल स्कोर भी प्रदान किया।

भारत ने पांच के कुल स्कोर पर शिखर धवन (1) और 50 के कुल स्कोर पर रोहित शर्मा (19) के विकेट खो दिए थे। कप्तान विराट कोहली (47) भी 83 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट लिए। विजय शकंर (2) 102 के कुल स्कोर पर टीम के चौथे विकेट के तौर पर आउट हुए।

यहां से राहुल और धोनी ने टीम को संभाला और पांचवें विकेट के लिए 164 रनों की साझेदारी की। राहुल शतक पूरा करने के कुछ देर बाद शब्बीर रहमान की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने अपनी पारी में 99 गेंदें खेलीं जिन पर 12 चौके और चार छक्के मारे।

यहां से धोनी ने एक्सीलेटर पर पैर रखा और 2017 के बाद से अपना पहला शतक जमाया। इससे पहले धोनी ने 19 जनवरी 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ 134 रनों की पारी खेली थी लेकिन वो अंतर्राष्ट्रीय मैच था और यह अभ्यास मैच है। धोनी आखिरी ओवर में शाकिब अल हसन की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने 78 गेंदें खेलीं जिन पर सात छक्के और आठ चौके मारे।

हार्दिक पांड्या ने 21 रन बनाए। दिनेश कार्तिक सात और रवींद्र जडेजा 11 रन बनाकर नाबाद लौटे। बांग्लादेश के लिए रुबेल हुसैन और शाकिब ने दो-दो विकेट लिए। मुस्ताफिजुर रहमान, मोहम्मद सैफउद्दीन और शब्बीर रहमान को एक-एक सफलता मिली।

केएल राहुल ने शतक जमाकर विश्व कप मैचों के लिये बल्लेबाजी क्रम में नंबर चार पर अपना दावा मजबूत किया जबकि महेंद्र सिंह धौनी ने भी अपने चिर परिचित अंदाज में बल्लेबाजी करके सैकड़ा ठोका जिससे भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ मंगलवार को यहां अपने दूसरे अभ्यास क्रिकेट मैच में शुरुआती झटकों से उबरकर सात विकेट पर 359 रन का मजबूत स्कोर बनाया।

राहुल ने चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरकर 99 गेंदों पर 12 चौकों और चार छक्कों की मदद से 108 रन बनाये जबकि धौनी ने 78 गेंदों पर 113 रन की पारी खेली जिसमें आठ चौके और सात छक्के शामिल हैं। इन दोनों पांचवें विकेट के लिये 164 रन की साझेदारी करके भारत को चार विकेट पर 102 रन की संकटपूर्ण स्थिति से उबारा।

भारत के लिये शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाजों शिखर धवन (एक), रोहित शर्मा (19) और कप्तान विराट कोहली (47) की लगातार दूसरे मैच में नाकामी चिंता का विषय हो सकती है लेकिन राहुल ने चौथे नंबर की उसकी समस्या लगभग समाप्त कर दी है। विश्व कप में भारत का नंबर चार बल्लेबाज कौन होगा यह टीम चयन के बाद से लेकर ही चर्चा का विषय बना हुआ था।

राहुल को दोनों अभ्यास मैच में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के उतारकर कोहली ने साफ संकेत दे दिये कि इस महत्वपूर्ण स्थान के लिये कौन उनकी पहली पसंद है। राहुल ने भी अपने कप्तान को निराश नहीं किया तथा नैसर्गिक अंदाज में बल्लेबाजी करके अपने पुल, कट और कवर ड्राइव का बेहतरीन नमूना पेश किया।

नंबर चार के लिये चयनकर्ताओं की पहली पसंद विजय शंकर पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे लेकिन केवल दो रन ही बना पाये। इससे तय लगता है कि भारत जब पांच जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने विश्व कप अभियान का आगाज करेगा तो राहुल चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये आएंगे।

धौनी फिर से अपने पुराने रंग में दिखे और शुरू से गेंदबाजों पर हावी हो गये। स्पिनरों पर उन्होंने आगे बढ़कर कई दर्शनीय शॉट लगाये तथा इस बीच अपनी पावर हिटिंग से भी प्रभावित किया। उन्होंने अबू जायद पर अपनी पारी का छठा छक्का लगाकर केवल 73 गेंदों पर शतक पूरा किया। इस पारी के बाद धोनी के विश्व कप में पांचवें नंबर पर उतरने की संभावना बढ़ गयी है।

शीर्ष क्रम के बल्लेबाज हालांकि गेंदबाजों के लिये अनुकूल परिस्थितयों में फिर से नहीं चल पाये। न्यूजीलैंड के खिलाफ पिछले मैच में छह विकेट से हार के दौरान भी ये तीनों बल्लेबाज मिलकर 22 रन बना पाये थे। बारिश ने पहले ओवर में ही खेल में व्यवधान डाल दिया था।

इसे भी पढ़ें :

ये हैं वो 5 महिला एंकर, जो वर्ल्डकप में लगाएंगी खूबसूरती का तड़का

बादल छाये हुए थे और बांग्लादेश ने भारत को पहले बल्लेबाजी सौंपी। धवन तीसरे ओवर में ही मुस्ताफिजुर रहमान की फुललेंथ गेंद पर पगबाधा आउट हो गये। ‘हिटमैन' रोहित 14वें ओवर तक क्रीज पर रहे लेकिन इस बीच रन बनाने के लिये जूझते नजर आये। रूबेल हुसैन की धीमी रहती शार्ट पिच गेंद पर पुल करने के प्रयास में वह बोल्ड हो गये।

कोहली अच्छी शुरुआत करने के बाद तेज गेंदबाज मोहम्मद सैफुद्दीन की गेंद को फ्लिक करने से चूक गये और बोल्ड होकर पवेलियन लौटे। निचले मध्यक्रम में हार्दिक पंड्या ने 11 गेंदों पर 21 रन बनाये जबकि रविंद्र जडेजा 11 और दिनेश कार्तिक सात रन बनाकर नाबाद रहे। बांग्लादेश की तरफ से शाकिब अल हसन और रूबेल हुसैन ने दो-दो विकेट लिये।