हैदराबाद : तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद पर इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) क्रिकेट का बुखार चढ़ा हुआ है। नगर के उप्पल स्टेडियम में आज (रविवार) की रात 7.30 बजे शुरू होने वाले आईपीएल-12 के फाइनल मैच के टिकटों के लिए कोशिश करने वाले हजारों हैदराबादियों को निराशा हाथ लगी है। चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच यह खिताबी जंग होने जा रही है।

अपनी-अपनी टीमों के फाइनल पहुंचने की उम्मीद पर चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के प्रबंधनों ने उप्पल के राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में करीब 90 फीसदी टिकट ब्लॉक कर दिया है। उम्मीदों के मुताबिक इन दो टीमों के फाइनल पहुंचने से उनके प्रबंधन पूरे स्टेडियम में तमिलनाडु और महाराष्ट्र के दर्शकों से भरने जा रहे हैं।

उप्पल स्टेडियम में 39,450 लोगों के बैठने की व्यवस्था है, जिनमें से 35 हजार से अधिक सीटें चेन्नई और मुंबई इंडियंस के प्रबंधन पहले ही ब्लॉक कर चुके हैं। बाकी बचे 4,450 टिकटों में से 2,500 टिकट स्पॉन्सरशिप करने वाली कार्पोरेट कंपनियों को दिए गए हैं। इससे आम लोगों के लिए केवल 2 हजार टिकट उपलब्ध हैं। इनमें भी अधिकांश टिकट तमिलनाडु और महाराष्ट्र के लोग ऑनलाइन बुक कर चुके हैं। चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच फाइनल मैच देखने की आस लगाई बैठे हजारों हैदराबादी क्रिकेट फैन्स में बुहत कम लोगों को बड़ी मुश्किल से टिकट मिल पाए हैं।

इसे भी पढ़ें :

IPL 2019 : चौथी बार फाइनल में आमने- सामनें होगी चेन्नई और मुंबई की टीम, रोचक होगा मुकाबला

आज का फाइनल मैच देखने के लिए महाराष्ट्र और तमिलनाडु से करीब 25 हजार लोग शनिवार दोपहर ही हैदराबाद पहुंच चुके हैं। राजधानी में 3,4 और 5 सितारा होटल्स पहले से बुक हैं। बताया जाता है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के 5 हजार एग्जिक्यूट्स फाइनल मैच देखने के लिए पहले ही हैदराबाद में होटल बुक कर चुके हैं।

टिकटों के लिए वीवीआईपी का दबाव...

उप्पल स्टेडियम में होने वाले इस फाइनल मैच के पास के लिए कोशिश करने वाले वीवीआईपी को भी निराशा हाथ लगी है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक मुंबई इंडियंस के फाइनल में पहुंचने के कारण स्थिति बदल गई है और स्टेडियम के लगभग सभी बॉक्स रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बुक कर ली है। टिकट के लिए राज्य सरकार के प्रमुखों के प्रयास भी सफल नहीं हुए। यही नहीं, बीसीसीआई के उच्चाधिकारियों को भी वीवीआईपी पास नहीं मिल पाए। आईपीएल के आयोजकों द्वारा हैदाराबद क्रिकेट एसोसिएशन को बहुत कम पास दिए जाने से सदस्यों के खासे नाराज होने की भी खबर है।