चेन्नई : कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के जबर्दस्त प्रदर्शन तथा इमरान ताहिर की अगुवाई में स्पिनरों की शानदार गेंदबाजी की बदौलत चेन्नई ने दिल्ली कैपिटल्स को 80 रन से हरा दिया है। आईपीएल 2019 की अंकतालिका में फिर से शीर्ष स्थान हासिल किया। चेन्नई ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर चार विकेट पर 179 रन बनाये और इसके जवाब में दिल्ली को 16.2 ओवर में 99 रन पर ढेर कर दिया।

डुप्लेसिस और रैना ने की 83 रन की साझेदारी

चेन्नई की तरफ से सुरेश रैना ने 37 गेंदों पर 59 रन बनाये और फाफ डुप्लेसिस (41 गेंदों पर 39) रन के साथ दूसरे विकेट के लिये 83 रन की साझेदारी की लेकिन वह धोनी थे जिन्होंने 22 गेंदों पर चार चौकों और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 44 रन बनाकर चेन्नई को दमदार स्कोर तक पहुंचाया।

अंतिम 6 ओवरो में CSK ने बनाए 91 रन

रविंद्र जडेजा ने दस गेंदों पर 25 रन का योगदान दिया। चेन्नई ने अंतिम छह ओवरों में 91 रन बनाये। इसके विपरीत दिल्ली की तरफ से केवल कप्तान श्रेयस अय्यर (31 गेंदों पर 44) और शिखर धवन (13 गेंदों पर 19 रन) ही दोहरे अंकों में पहुंचे। चेन्नई के लिये लेग स्पिनर ताहिर ने 12 रन देकर चार और बायें हाथ के स्पिनर जडेजा ने नौ रन देकर तीन विकेट लिये। आफ स्पिनर हरभजन सिंह और तेज गेंदबाज दीपक चाहर को एक एक विकेट मिला। धोनी ने एक कैच और दो शानदार स्टंप किये।

धोनी की टीम के 18 अंक।
धोनी की टीम के 18 अंक।

CSK की 13 मैचों में नवीं जीत

चेन्नई की 13 मैचों में यह नौवीं जीत है और 18 अंक के साथ वह अंकतालिका में शीर्ष पर पहुंच गया। दिल्ली ने भी 13 मैच खेले हैं और उसकी यह पांचवीं हार है। वह 16 अंक के साथ अब दूसरे स्थान पर खिसक गया है। ये दोनों टीमें पहले ही प्लेआफ में अपनी जगह पक्की कर चुकी हैं। बड़े लक्ष्य के सामने दिल्ली ने शुरू से विकेट नियमित विकेट गंवाये।

चाहर ने पहले ही ओवर में रैना को किया आउट

चाहर ने पहले ओवर में ही पृथ्वी साव (चार) को कवर प्वाइंट पर रैना के हाथों कैच कराया जिनका यह आईपीएल में 100वां कैच था। दूसरे सलामी बल्लेबाज धवन भी पावरप्ले के दौरान ही पवेलियन लौट गये। उन्होंने हरभजन पर छक्का लगाया था लेकिन इसी आफ स्पिनर ने अगले ओवर में उन्हें आफ ब्रेक पर बोल्ड किया। ऋषभ पंत (पांच) ने आते ही ताहिर की गेंद हवा में लहरा दी। अय्यर ने अपनी शानदार फार्म जारी रखी। चाहर की गेंद पर उन्होंने बेहतरीन टाइमिंग से छक्का लगाया लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरते रहे। जडेजा ने गेंद संभालते ही कोलिन इंग्राम को पगबाधा आउट कर दिया। अक्षर पटेल (नौ) भी दो ओवर तक गेंदबाजों को परखने के बाद स्लिप में कैच दिया।

धोनी ने पेश किया शानदार विकेट कीपिंग का नमूना

ताहिर ने इसी ओवर में नये बल्लेबाज शेरफन रदरफोर्ड (दो) को भी पवेलियन भेजा। धोनी ने जडेजा के अगले ओवर में अपनी चपल विकेटकीपिंग का जोरदार नमूना पेश किया। उन्होंने क्रिस मौरिस और अय्यर दोनों को अपने सदाबहार अंदाज में स्टंप आउट करके चेन्नई की बड़ी जीत सुनिश्चित की। अय्यर ने अपनी पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया। इससे पहले रैना ने अगर टीम को धीमी शुरुआत से उबारा तो धोनी ने उनके प्रयासों को पंख लगाये। चेन्नई के कप्तान ने 19वें ओवर में क्रिस मौरिस की बीमर को छक्के लिये भेजा और फिर कैगिसो रबाडा की जगह टीम में लिये गये ट्रेंट बोल्ट की पारी की आखिरी दो गेंदों पर भी छक्के जड़े। बोल्ट ने शुरू में बायें हाथ के स्पिनर जे सुचित (28 रन देकर दो विकेट) के साथ बेहद कसी हुई गेंदबाजी की थी। पहले तीन ओवर में तीन रन बने जबकि चौथे ओवर में सुचित ने शेन वाटसन को पवेलियन भेजा जो तब तक खाता नहीं खोल पाने के कारण लंबा शाट खेलने के लिये बेताब थे।

इसे भी पढ़ें

IPL 2019 : ऋषभ पंत ने तोड़ा महेंद्र सिंह धोनी का 7 साल पुराना रिकॉर्ड

अक्षर पटेल ने किया डुप्लेसिस को आउट

पावरप्ले तक भी चेन्नई का स्कोर एक विकेट 27 और दस ओवर के बाद एक विकेट पर 53 रन था। इसका प्रमुख कारण डुप्लेसिस की धीमी बल्लेबाजी थी जो स्पिनरों के सामने असहज नजर आ रहे थे। डुप्लेसिस ने दो छक्के लगाकर अपने स्ट्राइक रेट में कुछ सुधार किया लेकिन अक्षर पटेल ने उनकी आक्रामकता पर तुरंत ही विराम लगा दिया।

रैना ने सुचित पर दो चौके और छक्का लगाकर अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसी ओवर में गेंदबाज ने उन्हें ललचाकर कैच देने के लिये मजबूर किया। रैना की पारी में आठ चौके और एक छक्का शामिल है। उनका स्थान लेने के लिये उतरे जडेजा ने पटेल और बोल्ट छक्के जमाये लेकिन मौरिस की गेंद हवा में लहराकर वह पवेलियन लौट गये। पिछले मैच में अस्वस्थ होने के कारण नहीं खेल पाने वाले धोनी ने इसके बाद अंतिम ओवरों में लंबे शाट लगाने की अपनी क्षमता का नमूना फिर से दिखाकर चेपक में मौजूद अपने समर्थकों को मदमस्त किया।