चेन्नई: चेन्नई सुपर किंग्स ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए एम.ए. चिदम्बरम स्टेडियम में खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण के मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स को सात विकेट से हरा दिया।

कोलकाता की टीम 20 ओवरों में नौ विकेट के नुकसान पर 108 रन ही बना सकी और इसमें अकेले आंद्रे रसेल का योगदान नाबाद 50 रनों का रहा। इस लक्ष्य को चेन्नई ने 17.2 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया।

आंद्रे रसेल ने एक बार फिर शानदार पारी खेली, लेकिन वो भी कोलकाता को सम्मानजनक तो दूर, कोई कायदे का स्कोर भी नहीं दिला सके। इस स्कोर को हासिल करने में मौजूदा विजेता को ज्यादा परेशानी नहीं हुई। इस जीत से चेन्नई एक बार फिर अंकतालिका में पहले स्थान पर आ गई है। उसके अब 10 अंक हो गए हैं।

कोलकाता नाइट राइडर्स
कोलकाता नाइट राइडर्स

मेजबान टीम के लिए फाफ डु प्लेसिस ने नाबाद 43 रन बनाए, जिसके लिए उन्होंने 45 गेंदों का सामना किया और तीन चौके मारे। केदार जाधव आठ रन बनाकर नाबाद रहे। चेन्नई को जीत के लिए जब चार रन चाहिए थे, तब सुनील नरेन ने वाइड गेंद फेंक दी, जो चौके के लिए चली गई और चेन्नई की जीत की औपचारिकता पूरी हो गई।

आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई ने 35 के कुल स्कोर तक अपने दो विकेट खो दिए थे। शेन वाटसन (17) 18 के कुल स्कोर पर नरेन का शिकार हो गए तो वहीं सुरेश रैना (14) को नरेन ने अपना दूसरा शिकार बनाया।

अंबाती रायडू (21) और दूसरे सलामी बल्लेबाज डु प्लेसिस की जोड़ी ने टीम के स्कोरबोर्ड को आगे बढ़ाया। ऐसा लग रहा था कि यही जोड़ी मैच जिता ले जाएगी, लेकिन 81 के कुल स्कोर पर पीयूष चावला ने रायडू को आउट कर दिया। आउट होने से पहले इसी ओवर में रायडू को एक जीवन दान मिला था, जब प्रसिद्ध कृष्णा ने उनका कैच छोड़ दिया था। इसके बाद डु प्लेसिस और जाधव ने टीम को जीत दिलाई।

चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला

इससे पहले, चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। चेन्नई के गेंदबाज कोलकाता पर शुरू से ही हावी रहे। कोलकाता की टीम लगातार विकेट खो रही थी और उसका 100 के पार जाना भी मुश्किल लग रहा था। लेकिन, रसेल ने 44 गेंदों पर पांच चौके और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 50 रनों की पारी खेल टीम को 100 के पार पहुंचाया।

दीपक चाहर ने पहले ही ओवर की आखिरी गेंद पर क्रिस लिन (0) जैसे तूफानी बल्लेबाज को छह के कुल स्कोर पर पवेलियन भेज दिया।

चेन्नई सुपर किंग्स बल्लेबाज
चेन्नई सुपर किंग्स बल्लेबाज

अगले ओवर में सुनील नरेन (6) हरभजन की गिरफ्त में आकर पवेलियन लौटने पर मजबूर हो गए। नीतीश राणा (0) को दीपक ने आउट कर कोलकाता का स्कोर नौ रनों पर तीन विकेट कर दिया।

अब कप्तान दिनेश कार्तिक और रॉबिन उथप्पा पर टीम को गहरे संकट में से निकालने की जिम्मेदारी थी, जिसमें दोनों अनुभवी बल्लेबाज असफल रहे। उथप्पा 24 के कुल स्कोर पर दीपक का तीसरा शिकार बने। उन्होंने दो चौकों की मदद से नौ गेंदों पर 11 रन बनाए। कार्तिक को लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने 44 के कुल स्कोर पर आउट किया। कार्तिक ने 21 गेंदों पर 19 रनों की पारी खेली।

इसे भी पढ़ेंः

PKL 7: इस्माइल नबीबक्श और मेघानी सबसे महंगे विदेशी खिलाड़ी, जानें कितने की लगी बोली

इस मैच में युवा बल्लेबाज शुभमन गिल के पास अपना जौहर दिखाने का मौका आया, लेकिन यह बल्लेबाज ताहिर की गुगली में फंस कर स्टम्प हो गया। 12 गेंदों पर नौ रन बनाने वाले गिल 47 के कुल स्कोर पर छठे विकेट के रूप में पवेलियन लौटे।

आंद्रे रसेल ने क्रीज पर कदम रखा। ताहिर ने हालांकि रसेल से भी चेन्नई को छुटकारा दिला ही दिया था, लेकिन हरभजन ने उनका कैच छोड़ दिया। रसेल का कैच 13वें ओवर की दूसरी गेंद पर छूटा और तब टीम का स्कोर 56 रन था और रसेल आठ रन के व्यक्तिगत स्कोर पर थे।

कोलकाता ने 76 के कुल स्कोर पर पीयूष चावला (8), इसी स्कोर पर कुलदीप यादव (0) का विकेट खो दिया। 79 के कुल स्कोर पर प्रसिद्ध कृष्णा (0) भी रवींद्र जडेजा की गेंद पर हरभजन को कैच दे गए।

यहां लगा कि चेन्नई 100 से पहले ही कोलकाता को ढेर कर देगी, लेकिन रसेल ने एक छोर संभाले रखा और तेजी से रन बना टीम को जल्दी ढेर होने से बचा लिया। चेन्नई के लिए दीपक चाहर ने तीन, हरभजन और ताहिर ने दो-दो, जबकि जडेजा ने एक विकेट लिया।