हैदराबाद : दिल्ली कैपिटल्स ने आईपीएल 12 का आगाज जीत के साथ किया है, दिल्ली ने रविवार को वानखेड़े स्टेडियम में मुंबई इंडियंस को 37 रन से शिकस्त दी है।

भारत की विश्व कप टीम में जगह बनाने की दावेदारी पेश कर रहे ऋषभ पंत की तेजतर्रार पारी से दिल्ली कैपिटल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में रविवार को मुंबई इंडियंस 37 रन से हराकर अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ की।

दिल्ली के 214 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई की टीम युवराज सिंह (53) के अर्धशतक के बावजूद 19.2 ओवर में 176 रन पर ढेर हो गई। युवराज के अलावा कृणाल पंड्या (32) ही 30 रन के आंकड़े को पार कर पाए। जसप्रीत बुमराह चोटिल होने के कारण बल्लेबाजी के लिए नहीं उतरे।

दिल्ली की ओर से कागिसो रबादा ने 24 जबकि इशांत शर्मा ने 34 रन देकर दो-दो विकेट चटकाए। इससे पहले मुंबई के लिए पंत ने 27 गेंद में सात छक्कों और सात चौकों की मदद से नाबाद 78 रन की पारी खेली। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (43) और कोलिन इनग्राम (47) ने भी उम्दा पारियां खेली जिससे टीम छह विकेट पर 213 रन बनाने में सफल रही।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे मुंबई की शुरुआत खराब रही। कप्तान रोहित शर्मा 13 गेंद में 14 रन बनाने के बाद इशांत की गेंद पर राहुल तेवतिया को बाउंड्री पर कैच दे बैठे। इशांत के पारी के छठे ओवर में सूर्य कुमार यादव (02) विरोधी टीम के कप्तान श्रेयस अय्यर के सटीक निशाने पर रन आउट हुए। इस तेज गेंदबाज ने इसी ओवर में क्विंटन डिकाक (27) को भी ट्रेंट बोल्ट के हाथों कैच कराके मेजबान टीम का स्कोर तीन विकेट पर 45 रन किया।

युवराज और कीरोन पोलार्ड (21) ने इसके बाद चौथे विकेट के लिए 50 रन जोड़े। कीमो पाल ने पोलार्ड को तेवतिया के हाथों कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा जबकि अक्षर पटेल ने अगले ओवर में हार्दिक पंड्या (00) को अपनी ही गेंद पर लपका।

युवराज ने एक छोर संभाले रखा। उन्हें कृणाल का अच्छा साथ मिला जिन्होंने शुरू से ही आक्रामक तेवर दिखाए। कृणाल ने इशांत के ओवर में दो चौके और एक छक्का मारा। वह हालांकि 15 गेंद में 32 रन बनाने के बाद बोल्ट की गेंद पर बड़ा शाट खेलने की कोशिश में तेवतिया को कैच दे बैठे।

उन्होंने अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का मारा। मुंबई को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 80 रन की दरकार थी। युवराज ने अक्षर पर दो छक्के जड़कर दर्शकों में रोमांचक पैदा किया। कागिसो रबादा ने बेन कटिंग (03) को विकेटकीपर पंत के हाथों कैच कराया। युवराज ने बोल्ट पर चौके के साथ 33 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। मैकलेनाघन ने भी रबादा और बोल्ट पर चौके मारे।

मुंबई को हालांकि इसके बावजूद अंतिम दो ओवर में जीत के लिए 46 रन की दरकार थी। रबादा ने युवराज को तेवतिया के हाथों कैच कराके मुंबई की जीत की रही सही उम्मीद भी तोड़ दी। उन्होंने 35 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और तीन छक्के मारे।

इससे पहले पंत की पारी की बदौलत दिल्ली की टीम अंतिम छह ओवर में 99 रन जोड़ने में सफल रही। मुंबई की ओर से मिशेल मैकलेनाघन सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 40 रन देकर तीन विकेट चटकाए।

रोहित ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया जिसे उनके गेंदबाजों ने सही साबित करने की कोशिश की। मैकलेनाघन ने अपने पहले और पारी के दूसरे ओवर में ही पृथ्वी साव (07) को विकेटकीपर डिकाक के हाथों कैच करा दिया।

कप्तान श्रेयस अय्यर (16) ने आईपीएल में पदार्पण कर रहे जम्मू-कश्मीर के दूसरे क्रिकेटर रसिक सलाम पर दो चौके मारे। उन्होंने मैकलेनाघन पर भी छक्का जड़ा लेकिन अगली गेंद पर एक्स्ट्रा कवर पर कीरोन पोलार्ड ने शानदार कैच लपकते हुए उनकी पारी का अंत किया।

इसे भी पढ़ें :

IPL 2019: सुरेश रैना ने रचा इतिहास, ये कारनामा करने वाले बने पहले बल्लेबाज

IPL 2019 : विराट ब्रिगेड पर भारी पड़ी धोनी की सेना, 7 विकेट से दी मात

सलामी बल्लेबाज धवन और इनग्राम ने इसके बाद 83 रन जोड़कर पारी को संवारा। दोनों ने छह ओवर में टीम का स्कोर दो विकेट पर 45 रन तक पहुंचाया। इनग्राम ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए हार्दिक पंड्या के ओवर में छक्का और चौका मारा जबकि धवन ने मैकलेनाघन पर चौका और छक्का जड़ा।

इनग्राम ने कृणाल पंड्या के ओवर में तीन चौके मारे जबकि धवन ने जसप्रीत बुमराह पर चौके के साथ 12वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। इनग्राम हालांकि अगले ओवर में बेन कटिंग की गेंद पर छक्का जड़ने की कोशिश में डीप मिडविकेट पर हार्दिक को कैच दे बैठे।

उन्होंने 32 गेंद की अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का मारा। पंत ने आक्रामक तेवर दिखाते हुए कटिंग के अगले ओवर में दो चौके और एक छक्का मारा। हार्दिक ने हालांकि धवन को सूर्य कुमार यादव के हाथों कैच करा दिया। उन्होंने 36 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और एक छक्का मारा।

पंत ने हार्दिक के ओवर की अंतिम तीन गेंद पर दो छक्के और एक चौका मारा। कीमो पाल (03) और अक्षर पटेल (04) अधिक देर नहीं टिक सके। कीमो पाल को मैकलेनाघन जबकि अक्षर को बुमराह ने पवेलियन भेजा। पंत ने बुमराह पर छक्का और फिर चौका जड़कर सिर्फ 18 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने 19वें ओवर में सलाम पर भी दो छक्के और एक चौका जड़ा। पंत ने बुमराह पर छक्के के साथ टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया।