हेमिल्टन : हेमिल्टन में खेले जा रहे तीसरे T-20 मैच में न्यूजीलैंड ने भारत को 4 रनों से हराया। इसी के साथ न्यूजीलैंड ने 2-1 से सीरीज अपने नाम कर ली है। यह मुकाबला काफी रोमांचक था।

टॉस जीतने के बाद पहले गेंदबाजी करने उतरी भारतीय टीम की गेंदबाजी आज बिखरती नजर आई। न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 212 रन बनाए। न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत को 213 रनों का लक्ष्य दिया था।

भारत दूसरी बार तीन मैचों की टी-20 सीरीज हारा है। भारत ने अब तक नौ बार सीरीज जीती है जबकि दो बार सीरीज ड्रॉ रही है। भारत का न्यूजीलैंड के खिलाफ यह 11वां मैच था, जिसमें उसे आठ बार शिकस्त मिली है।

न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 212 रन का विशाल स्कोर बनाया और फिर भारत को निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट पर 208 रन पर रोक दिया।

मेजबान टीम से मिले 213 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने छह रन के कुल स्कोर पर ही शिखर धवन (5) का विकेट गंवा दिया। इसके बाद रोहित ने शंकर के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 75 रन जोड़े।

शंकर ने 28 गेंदों की पारी में पांच चौके और दो छक्के उड़ाए। रोहित ने ऋषभ पंत (28) के साथ तीसरे विकेट के लिए भी 40 रन की साझेदारी की। पंत 12 गेंदों पर एक चौका तीन छक्के लगाकर टीम के 121 के स्कोर पर आउट हुए।

यह भी पढ़ें :

विश्व कप में धौनी की मौजूदगी पर युवराज ने दिया बड़ा बयान

भारत दौरे के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम का एलान, ये तेज गेंदबाज टीम से बाहर

इसके बाद कप्तान रोहित भी एक लंबा शॉट लगाने के प्रयास में सीमा रेखा पर टिम सेफर्ट के हाथों लपके गए। हार्दिक पांड्या 11 गेंदों पर एक चौका और दो छक्के के सहारे 21 रन की पारी खेलकर टीम के 145 के स्कोर पर पांचवें बल्लेबाज के रूप में आउट हुए।

भारत ने 145 के स्कोर महेंद्र सिंह धोनी (2) का विकेट भी गंवा दिया। धोनी के आउट होने के बाद कार्तिक और क्रुणाल पांड्या (नाबाद 26) ने सातवें विकेट के लिए 63 रन की अविजित साझेदारी कर मैच बना दिया था।

भारतीय को आखिरी ओवर में जीत के लिए 16 रन बनाने थे, लेकिन वह 11 रन ही बना पाई और उसे चार रन से नजदीकी हार का सामना करना पड़ा। कार्तिक ने 16 गेंदों पर चार छक्के और क्रुणाल ने 13 गेंदों पर दो चौके और इतने ही छक्के लगाए।

न्यूजीलैंड की ओर से डेरेल माइकल और मिशेल सेंटनर ने दो-दो जबकि स्काट कुगेलेइन और ब्लेयर टिकनर ने एक-एक विकेट लिए।

इससे पहले, न्यूजीलैंड ने कोलिन मुनरो (72) और टिम सेइफर्ट (43) की शानदार पारियों के दम पर चार विकेट पर 212 रन का विशाल स्कोर बनाया और उसके गेंदबजों ने इस स्कोर का बचाव कर लिया।

दोनों बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 7.4 ओवर में 80 रनों की साझेदारी की। कुलदीप यादव ने सेइफर्ट को विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों स्टंप कराकर भारत को पहली सफलता दिलाई।

सेइफर्ट ने 25 गेंदों पर तीन चौके और इतने ही छक्के लगाए। मुनरो ने कप्तान केन विलियम्सन के साथ भी दूसरे विकेट के लिए 55 रन जोड़े। कुलदीप ने मुनरो को हार्दिक पांड्या के हाथों कैच कराकर इस साझेदारी का अंत किया।

मुनरो ने 40 गेंदों की तेजतर्रार पारी में पांच चौके और इतने ही छक्के लगाए। टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में मुनरो का यह नौवां अर्धशतक है। उन्होंने इसी मैदान पर पिछले साल इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 में 18 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया था।

विलियम्सन ने 21 गेंदों पर तीन चौकों की सहायता से 27 रनों का योगदान दिया। उनके अलावा कोलिन डी ग्रैंडहोम ने 16 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 30, डेरी मिशेल ने 11 गेंदों पर तीन चौकों के दम पर नाबाद 19 और रॉस टेलर ने सात गेंदों पर एक चौके और एक छक्के की सहायता से नाबाद 14 रन की पारी खेली।

भारत की ओर से कुलदीप यादव ने 26 रन पर दो विकेट और भुवनेश्वर कुमार तथा खलील अहमद ने एक-एक विकेट अपने नाम किए।

कोलिन मुनरो को मैन ऑफ द मैच और टिम सेइफर्ट को मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार मिला।

टीमें (संभावित):

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, ऋषभ पंत, शुभमन गिल, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), दिनेश कार्तिक, हार्दिक पांड्या, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कौल, क्रूणाल पांड्या, खलील अहमद, विजय शंकर, केदार जाधव।

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), कोलिन मुनरो, टिम सेइफेर्ट (विकेटकीपर), रॉस टेलर, कोलिन डी ग्रांडहोम, जेम्स नीशाम, मिशेल सैंटनर, डग ब्रैसवेल, टिम साउदी, ईश सोढ़ी, लॉकी फग्र्यूसन, स्कॉट कुगेलेजिन, डार्ले मिशेल।