माउंट माउंगानुई : गेंदबाजों के बाद सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत भारतीय महिला टीम ने दूसरे एक दिवसीय क्रिकेट मैच में न्यूजीलैंड को आठ विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला अपने नाम कर ली। टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए भारत ने न्यूजीलैंड को 44 . 2 ओवर में 161 रन पर आउट कर दिया।

इसके बाद ‘प्लेयर आफ द मैच ' मंधाना (नाबाद 90) और कप्तान मिताली राज (नाबाद 63) ने तीसरे विकेट के लिये 151 रन की अटूट साझेदारी करके टीम को जीत दिलाई । एक समय भारत का स्कोर दो विकेट पर 15 रन था जब सलामी बल्लेबाज जेमिमा रौद्रिगेज (0) और दीप्ति शर्मा (आठ) अपना विकेट गंवा बैठे थे।

मंधाना ने जीत के बाद कहा ,‘‘ मुझे लगता है कि प्लेयर आफ द मैच पुरस्कार के हकदार हमारे गेंदबाज थे । मैं इसे अपने गेंदबाजों के नाम करूंगी जिन्होंने अच्छी विकेट पर न्यूजीलैंड को कम स्कोर पर रोका।''

मंधाना का पिछले 10 वनडे में यह आठवां अर्धशतक था। उसने पहले मैच में 105 रन बनाये थे । उसने आज की पारी में 82 गेंदों का सामना किया। दूसरी ओर मिताली ने 111 गेंद खेलकर 63 रन बनाये और मंधाना का पूरा साथ दिया। मिताली ने छक्का लगाकर भारत को 35 . 2 ओवर में दो विकेट पर 166 रन तक पहुंचाया।

उसने कहा ,‘‘ टीम के प्रदर्शन से मैं खुश हूं । चुनौतीपूर्ण हालात में बल्लेबाजी करना मुझे हमेशा अच्छा लगता है । यहां संयम के साथ खेलने की जरूरत थी । स्मृति फार्म में है और उसके साथ टिके रहने की ही जरूरत थी ।''

आईसीसी महिला चैम्पियनशिप श्रृंखला के इस मैच में भारत ने 2 . 0 की बढत बना ली है । पहला वनडे भारत ने नौ विकेट से जीता था । इसके साथ ही भारतीय टीम ने 2014 . 16 के दौरान खेली गई आईसीसी महिला चैम्पियनशिप श्रृंखला में न्यूजीलैंड से 1 . 2 से मिली हार का बदला भी चुकता कर लिया।

न्यूजीलैंड आईसीसी महिला चैम्पियनशिप तालिका में दूसरे स्थान पर है और मेजबान होने के नाते उसे 50 ओवरों के विश्व कप में सीधे प्रवेश मिलेगा । पिछले मैच की ही तरह भारत ने पहले गेंदबाजी चुनकर कीवी टीम को 161 रन पर आउट कर दिया।

न्यूजीलैंड के लिए उसकी कप्तान एमी स्टाथवेट ने सबसे ज्यादा 71 रन बनाए। उसकी कोई और बल्लेबाज ज्यादा देर विकेट पर पैर नहीं जमा सकी।

यहां कप्तान ने क्रिज पर कदम रखा लिया था और वह लगातार रन बनाकर स्कोरबोर्ड चालू रखे हुए थीं। लॉरेन डाउन (15) उनका अच्छा साथ देती दिख रहीं थीं, लेकिन 33 के कुल स्कोर पर ही एकता बिष्ट ने उन्हें पवेलियन की राह दिखाई। एमेला केर सिर्फ एक रन ही बना सकीं।

मैडी ग्रीन (9) ने एमी का साथ देने की कोशिश की लेकिन झूलन ने इस साझेदारी को 62 के स्कोर से आगे नहीं जाने दिया। लेह कास्पेरेक (21) के साथ कप्तान ने एक बार फिर टीम का संभालने की कोशिश की और छठे विकेट के लिए 58 रनों की साझेदारी की। दीप्ती शर्मा ने एमी को 120 के कुल स्कोर पर आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। कप्तान ने अपनी पारी में 87 गेंदों का सामना किया और नौ चौके मारे।

यहां से बर्नाडिने बेजुइडेनहाउट (13) और कास्पेरेक ने टीम के लिए रन बनाए। अंत में ली तेहुहु ने 12 रन जोड़ कर टीम को 150 के पार पहुंचने में मदद की। भारत के लिए झूलन ने तीन विकेट लिए। एकता, दीप्ती, पूनम ने दो-दो विकेट अपने नाम किए। शिखा पांडो को एक विकेट मिला।

भारतीय कप्तान मिताली राज ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और उनकी गेंदबाजों ने इस फैसले को सही ठहराया। अनुभवी गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने पहले ही ओवर की चौथी गेंद पर सुजी बेट्स (0) को आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई। शिखां पांडे ने सोफी डेविने (7) को आउट कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई।

तीन मैचों की वनडे सीरीज में भारत ने 1-0 की बढ़त ले रखी है। इस मैच को जीत वह सीरीज अपने नाम करना चाहेगी। भारतीय टीम इस मैच में बिना किसी बदलाव के उतरी है। वहीं न्यूजीलैंड ने एक बदलाव किया है। होली हडल्सटन के स्थान पर एना पेटरसन को टीम में चुना गया है।

टीमें :

भारत : मिताली राज (कप्तान), स्मृति मंधाना, दीप्ती शर्मा, हरमनप्रीत कौर, तान्या भाटिया (विकेटकीपर), जेम्मीह रोड्रीगेज, डायलान हेमलता, शिखा पांडे, झूलन गोस्वामी, एकता बिष्ट, पूनम यादव।

न्यूजीलैंड : एमी स्टाथवेट (कप्तान), सुजी बेट्स, लॉरेन डाउन, सोफी डेविने, एमेला केर, मैड्री ग्रीन, बर्नाडिने बेजुइडेनहाउट (विकेटकीपर), लेघ कास्पेरेक, हनाह रोवे, होली हडल्सटन, ली तेहुहु।