टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को 10 विकेट से दी मात, 2-0 से किया क्लीन स्वीप

भारतीय टीम - Sakshi Samachar

हैदराबाद : तेज गेंदबाज उमेश यादव ने अपने करियर में पहली बार मैच में दस विकेट लेने का कारनामा किया जिससे टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में रविवार को यहां रिकार्ड दस विकेट से हराकर दो मैचों की श्रृंखला में क्लीन स्वीप किया।

वेस्टइंडीज की टीम भारत को पहली पारी में 367 रन पर रोकने में सफल रही लेकिन इसके बाद उसके बल्लेबाज नहीं चले और उसकी टीम दूसरी पारी में 127 रन पर ढेर हो गयी। पहली पारी में 56 रन की बढ़त हासिल करने वाले भारत को इस तरह से 72 रन का लक्ष्य मिला।

युवा पृथ्वी शॉ (नाबाद 33) और फार्म से जूझ रहे केएल राहुल (नाबाद 33) ने 16.1 ओवर में भारत का स्कोर बिना किसी नुकसान के 75 रन पर पहुंचाकर टीम को तीसरे दिन ही जीत दिलायी। अठारह साल 339 दिन के शॉ ने विजयी चौका लगाया। वह भारत की तरफ से विजयी रन बनाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बन गये हैं।

उमेश यादव ने 45 रन देकर चार विकेट लिये और इस तरह से मैच में 133 रन देकर दस विकेट लेने में सफल रहे। वह कपिल देव और जवागल श्रीनाथ के बाद घरेलू सरजमीं पर मैच में दस या अधिक विकेट लेने वाले तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज बन गये हैं।

उमेश यादव को दूसरी पारी में अन्य तीनों गेंदबाजों रविंद्र जडेजा (12 रन देकर तीन), रविचंद्रन अश्विन (24 रन देकर दो) और कुलदीप यादव (45 रन देकर एक) का अच्छा सहयोग मिला। टेस्ट क्रिकेट में यह आठवां अवसर है जबकि भारत दस विकेट से जीत दर्ज करने में सफल रहा।

वेस्टइंडीज के खिलाफ उसने पहली बार यह उपलब्धि हासिल की। भारतीय टीम ने राजकोट में पहले टेस्ट मैच में भी पारी ओर 272 रन से रिकार्ड जीत दर्ज की थी।

भारत ने स्वदेश में लगातार दस श्रृंखलाएं जीतकर आस्ट्रेलियाई रिकॉर्ड की बराबरी भी की। वेस्टइंडीज के बल्लेबाज फिर से जूझते नजर आये। उसकी तरफ से सुनील अंबरीश ने 38 और शाई होप ने 28 रन बनाये। उमेश के पास वेस्टइंडीज की दूसरी पारी के शुरू में ही दो पारियों में हैट्रिक का मौका था लेकिन क्रेग ब्रेथवेट (शून्य) पहली गेंद पर बच गये।

उन्होंने हालांकि लेग साइड की अगली गेंद पर विकेटकीपर ऋषभ पंत को कैच दे दिया। दूसरे सलामी बल्लेबाज कीरेन पावेल (छह) ने अश्विन की गेंद पर स्लिप में अजिंक्य रहाणे को कैच दिया। इसके बाद शाई होप और शिमरोन हेटमेयर (17) ने तीसरे विकेट के लिये 39 रन की साझेदारी की।

इस बीच होप ने उमेश यादव पर तीन दर्शनीय चौके लगाये। हेटमेयर ने कुलदीप पर करारा शॉट लगाने के प्रयास में प्वाइंट पर चेतेश्वर पुजारा को कैच थमाकर अपना विकेट इनाम में दिया, जबकि होप को जडेजा ने पवेलियन भेजा।

वेस्टइंडीज की उम्मीदें पहली पारी के शतकवीर रोस्टन चेज (छह) पर थी लेकिन उमेश की तीखी इनस्विंगर पर वह बोल्ड हो गये। उमेश ने इसके बाद शेन डोरिच (शून्य) का पगबाधा आउट किया। उमेश के पास हैट्रिक का मौका था लेकिन होल्डर ने उन्हें यह उपलब्धि हासिल नहीं करने दी।

उन्होंने शैनोन गैब्रियल को आउट करके कैरेबियाई पारी का अंत करने के साथ मैच में दस विकेट लिये। इससे पहले रविंद्र जडेजा ने होल्डर और अंबरीश को पवेलियन भेजा। इन दोनों ने सातवें विकेट के लिये 38 रन जोड़े थे।

यह भी पढ़ें :

वेस्टइंडीज की खराब शुरुआत, 3 खिलाड़ी पवेलियन लौटे

भारत दौरे के लिए विंडीज की टी-20 टीम का ऐलान, नहीं होंगे क्रिस गेल

भारत ने सुबह चार विकेट पर 308 रन से आगे खेलना शुरू किया लेकिन पंत लगातार दूसरे मैच में शतक से चूक गये। भारत का स्कोर एक समय चार विकेट पर 314 रन था, लेकिन उसने 16.1 ओवर और 25 रन के अंदर पांच विकेट गंवा दिये जिससे स्कोर नौ विकेट पर 339 रन हो गया।

इसके बाद अश्विन (83 गेंदों पर 35 रन) ने उपयोगी योगदान दिया। उन्होंने चोटिल शार्दुल ठाकुर (नाबाद चार) के साथ अंतिम विकेट के लिये 28 रन जोड़े। वेस्टइंडीज के कप्तान होल्डर (23 ओवर में 56 रन देकर पांच विकेट) ने दूसरी नयी गेंद का अच्छा इस्तेमाल किया और अपने टेस्ट करियर में पांचवीं बार पारी में पांच विकेट लिये। कल कुछ गलतियां करने वाले गैब्रियल ने 107 रन देकर तीन विकेट हासिल किये।

होल्डर ने अपनी उछाल लेती गेंद पर रहाणे (183 गेंदों पर 80 रन) की दसवें टेस्ट शतक की उम्मीदें समाप्त की। रहाणे और पंत ने पांचवें विकेट के लिये 152 रन जोड़े और यह साझेदारी टूटते ही भारतीय विकेट भी तेजी से निकलने लगे।

पंत (92 रन) अपने कल के स्कोर में केवल आठ रन जोड़ पाये। उन्होंने गैब्रियल की शार्ट पिच गेंद पर कवर प्वाइंट पर हेटमेयर को आसान कैच दिया। पंत राजकोट में पहले टेस्ट मैच में भी 92 रन पर आउट हो गये थे।

उन्होंने 134 गेंद की अपनी पारी में 11 चौके और दो छक्के लगाये। होल्डर ने जडेजा (शून्य) और कुलदीप (दो) को जल्द ही पवेलियन की राह दिखाकर अपने पांच विकेट पूरे किये। अश्विन ने हालांकि अपना पहला टेस्ट मैच खेल शार्दुल के साथ कुछ उपयोगी रन बटोरे। शार्दुल मांसपेशियों में खिंचाव के बावजूद क्रीज पर उतरे और उन्होंने अश्विन का अच्छा साथ दिया।

Advertisement
Back to Top