मुंबई: भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने पृथ्वी शॉ की प्रशंसा करते हुए कहा कि लोगों को उनके पूर्व सलामी साझेदार वीरेंद्र सहवाग से इस युवा की तुलना करने से पहले दो बार सोचना चाहिए। पृथ्वी ने राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरूआती टेस्ट में पदार्पण करते हुए शतकीय पारी खेली थी।

टेस्ट डेब्यू में ऐसा कमाल करने वाले पृथ्वी शॉ 15वें भारतीय खिलाड़ी बनने में सफल हुए थे जबकि सचिन तेंदुलकर के बाद सबसे कम प्रथम श्रेणी क्रिकेट की पारियों के अनुभव के साथ ये कमाल करने वाले दूसरे भारतीय भी बने।

गौतम गंभीर ने पत्रकारों से बात-चीत करते हुए कहा, "जो भी पृथ्वी की तुलना सहवाग से कर रहा है, उसे तुलना करने से पहले दो बार सोचना चाहिए। आखिर में आपको किसी की तुलना किसी से नहीं करनी चाहिए। पृथ्वी शॉ ने अपना करियर अभी शुरू ही किया है और अभी उसे लंबा सफर तय करना है। मैं कभी भी तुलना में विश्वास नहीं करता।"

इसे भी पढ़ें :

क्रिकेट के बाद अब सियासी पारी शुरू करेंगे गौतम गंभीर, इस पार्टी से लड़ेंगे चुनाव!

पृथ्वी शॉ बने पदार्पण टेस्ट में शतक लगाने वाले चौथे सबसे युवा बल्लेबाज

उन्होंने कहा, "पृथ्वी शॉ अलग प्रतिभा का खिलाड़ी है और सहवाग की अपनी विशेषता है। पृथ्वी ने अभी अपना करियर शुरू किया है जबकि सहवाग जैसा खिलाड़ी 100 टेस्ट मैच खेल चुका है।"

गौतम गंभीर ने कहा, "निश्चित रूप से वह (पृथ्वी) प्रभावशाली है। इसलिये वह खेल रहा है। सबसे अहम चीज है कि उसे अपना टेस्ट करियर अच्छी तरह से शुरू किया है लेकिन आगे उसे कई बड़ी चुनौतियों का सामना करना होगा।"