मुंबई : आईपीएल के 11वें सीजन के फाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से हराया। शेन वॉटसन ने शानदार शतक ठोका है।

सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन की शानदार बल्लेबाजी के दम पर चेन्नई ने अब तक 179 रनों का आंकड़ा पूरा कर लिया है। वॉटसन के शानदार चौके के साथ चेन्नई सुपरकिंग्स ने आईपीएल का फ़ाइनल जीत लिया है।

वॉटसन ने आक्रामक रुख़ लिए खेला और 57 गेंदों में अपना 117 रन बनाए और नाबाद रहे। उनके साथ खेल रहे सुरेश रैना 32 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। बाद में उनका साथ देने आए अंबाती रायुडू 17 रन बना कर नाबाद रहे।

चेन्नई की शुरुआत बेहद धीमी रही और भुवनेश्वर कुमार ने अपना पहला ओवर मेडन निकाला। चेन्नई को पारी के चौथे ओवर में पहला झटका लगा। जब डु प्लेसी महज 10 रन बनाकर संदीप शर्मा की गेंद पर आउट हो गए।

इससे पहले टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए हैदराबाद ने निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 178 रन बनाए।

हैदराबाद का पहला विकेट जल्दी ही गिर गया। श्रीवत्स गोस्वामी पांच रन बनाकर रन आउट हो गए थे। लेकिन उसके बाद शिखर धवन और केन विलियमसन ने पारी को संभाला।

शिखर धवन 26 रन बनाकर रविंद्र जडेजा की गेंद पर बोल्ड हुए। उन्होंने विलियमसन के साथ 51 रनों की साझेदारी की।

कप्तान केन विलियमसन ने शानदार बल्लेबाज़ी की, हालांकि वे अपना अर्धशतक पूरा करने से चूक गए और 47 रन के निजी स्कोर पर कर्ण शर्मा की गेंद पर धोनी के हाथों स्टंप आउट हुए। मगर कार्लोस ब्रेथवेट ने भी अंतिम ओवरों में तेज़ी से 11 गेंदों पर 21 रन बटोरे.

ये भी पढ़ें---

बूढों की फौज नहीं है ‘थलाइवा’ धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स

चेन्नई सुपरकिंग्स की सनराइजर्स हैदराबाद पर 13 रनों की रोमांचक जीत के कुछ खास पल, देखें तस्वीरें

चेन्नई ने हरभजन सिंह की जगह कर्ण शर्मा को अंतिम एकादश में रखा है। सनराइजर्स ने चोटिल ऋद्धिमान साहा के स्थान पर श्रीवत्स गोस्वामी और खलील अहमद की जगह संदीप शर्मा को टीम में रखा है।