कोलंबो : एकतरफा प्रदर्शन कर पांच वनडे मैचों की सीरीज में 4-0 की बढ़त ले चुकी भारतीय टीम रविवार को होने वाले सीरीज के आखिरी मैच में इतिहास रचने के मुहाने पर खड़ी है।

भारत की नजरें आर. प्रेमदासा स्टेडियम में खेले जाने वाले मैच में जीत हासिल करने पर होंगी। अगर भारत यह सीरीज जीत जाता है तो वह श्रीलंका में 5-0 से पहली बार सीरीज जीतने का रिकार्ड अपने नाम दर्ज करेगा।

इस मैच से पहले हालांकि भारत के लिए एक बुरी खबर है। उसके सलामी बल्लेबाज शिखर धवन अपनी बीमार मां को देखने के लिए स्वेदश लौटेंगे। वह रविवार को टीम के साथ नहीं होंगे। भारतीय टीम रविवार को ही पांचवां और अंतिम वनडे मैच खेलेगी। इसके बाद उसे एक टी-20 मैच भी खेलना है।

धवन अंतिम वनडे और एकमात्र टी-20 मैच में नहीं खेल सकेंगे। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की अखिल भारतीय चयन समिति ने धवन के स्थानापन्न की घोषणा नहीं की है। टी-20 मैच 6 सितम्बर को खेला जाएगा।

दोनों टीमों के मौजूदा प्रदर्शन को देखते हुए भारत की जीत लगभग तय लग रही है क्योंकि श्रीलंका इस पूरी सीरीज में उसके आगे कहीं भी नजर नहीं आई। इससे पहले खेली गई तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में भी भारत ने मेजबान टीम का सूपड़ा साफ किया था।

भारत ने इससे पहले अपने घर में 2014-15 में श्रीलंका को 5-0 से हराया था। इसके साथ ही भारत दूसरी बार विदेशी जमीं पर 5-0 से जीत हासिल करने का रिकार्ड भी अपने नाम कर सकता है। इससे पहले भारत ने विराट कोहली की ही कप्तानी में जिम्बाब्वे को 2013 में 5-0 से हराया था।

मेहमान टीम इस समय बेहतरीन फॉर्म में है। पिछले मैच में रोहित शर्मा और कप्तान विराट कोहली ने शतक जड़ते हुए भारत को विशाल स्कोर तक पहुंचाने में मदद की थी। इन दोनों के बाद मनीष पांडे और महेंद्र सिंह धौनी ने टीम को श्रीलंका में अपने सबसे बड़े स्कोर तक पहुंचाया था।

कोहली ने पिछले मैच में शतक लगाकर सनथ जयासूर्या को पीछे करते हुए वनडे में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाजों की सूची में तीसरा स्थान हासिल कर लिया था। उनसे आगे सचिन तेंदलुकर (49) और आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग (30) हैं।

कोहली इस मैच में एक और शतक लगाते हैं तो वह पोंटिंग की बराबरी कर लेंगे।

आखिरी मैच में कोहली टीम में बदलाव कर सकते हैें और बेंच पर बैठे खिलाड़ियों को मौका मिल सकता है। धवन के न होने से टीम में एक बदलाव तो संभव है। ऐसे में कोहली , धवन की जगह रोहित के साथ अजिंक्य रहाणे से पारी की शुरुआत करा सकते हैं।

वहीं पिछले मैच में पदार्पण करने वाले तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर को भी एक और मैच में अजमाया जा सकता है।

पिछले मैच में अर्धशतकीय पारी खेलने वाले मनीष पांडे को भी कोहली एक और मौका दे सकते हैं।

धौनी इस मैच में एक रिकार्ड अपने नाम कर सकते हैं। उनके नाम वनडे में 99 स्टम्पिंग दर्ज हैं। अगर वह एक और स्टम्पिंग कर लेते हैं तो वनडे में 100 स्टम्पिंग करने वाले पहले विकेटकीपर बन जाएंगे। वह इस समय कुमारा संगाकार के साथ संयुक्त रूप से पहले स्थान पर हैं। दोनों के नाम 99 स्टम्पिंग हैं।

धौनी से टीम एक बार और बड़ी पारी की उम्मीद करेगी।

गेंदबाजी में टीम की जिम्मेदारी जसप्रीत बुमराह के कंधों पर ही हो सकती है। ऐसा भी संभव है कि टीम प्रबंधन बुमराह को आराम देकर भुवनेश्वर कुमार को अंतिम मैच में उतारे जिन्हें पिछले मैच में आराम दिया गया था।

स्पिन में कुलदीप यादव और अक्षर पटेल पर टीम निर्भर करेगी।

वहीं श्रीलंका की टीम के लिए यह मैच अपनी लाज बचाने का सवाल है। घर में 5-0 से सीरीज हारने उसे किसी भी कीमत पर गवारा नहीं होगा। ऐसे में वो पूरी कोशिश करेगी की सीरीज का विजयी अंत कर सके।

लेकिन उसकी टीम को देखकर भारत को वो हरा पाए ऐसा संभव नजर नहीं आता है। टीम के बल्लेबाज और गेंदबाज अभी तक सीरीज में औसत प्रदर्शन भी नहीं कर पाए हैं।

इस मैच में उसके लिए अच्छी खबर यह है कि नियमित कप्तान उपुल थंरगा दो मैचों के प्रतिबंध के बाद वापसी करेंगे। बल्लेबाजी में उनके आने से टीम को मजबूती मिलेगी। उनके अलावा टीम बल्लेबाजी में एंजेलो मैथ्यूज और कुशल मेंडिस पर काफी हद तक निर्भर करेगी।

गेंदबाजी में लसिथ मलिंगा और ऑफ स्पिनर अकिला धनंजय पर टीम की जिम्मेदारी होगी।

टीमें :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), महेंद्र सिंह धौनी, रोहित शर्मा, मनीष पांडे, कुलदीप यादव, शार्दुल ठाकुर, लोकेश राहुल, अक्षर पटेल, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या, अजिंक्य रहाणे, भुवनेश्वर कुमार, केदार जाधव, युजवेंद्र चहल।

श्रीलंका : उपुल थरंगा (कप्तान), एंजेलो मैथ्यूज, लसिथ मलिंगा, लाहिरू थिरिमाने, निरोशन डिकवेला (विकेटकीपर), मिलिंदा श्रीवर्दने, विश्वा फर्नाडो, दिलशान मुनावीरा, मालिंदा पुष्पाकुमारा, अकिला धनंजय, कुशल मेंडिस, वानिडु हासारंगा, थिसरा परेरा, धनंजय डी सिल्वा, दानुष्का गुणाथिलका, दुशमंथा चामिरा, लक्षण संदकाना।